सस्ते भोजन के बहाने अब वोट की तलाश में सरकारें

सियासत में कामयाबी की राह गरीबों के पेट से होकर ही गुजरती है। अम्मा कैंटीन की तर्ज पर देश के कई राज्यों में सस्ते भोजन के लिए कैंटीन खुल चुकी है।

नई दिल्ली। 2013 में तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता ने राज्य में गरीबों को सस्ता भोजन मुहैया कराने के लिए अम्मा कैंटीन की शुरुआत की। यह इतनी लोकप्रिय रही कि 2015 में अम्मा की पार्टी अन्नाद्रमुक ने चुनावों में शानदार जीत हासिल की। विश्लेषकों का मानना है कि सियासत में कामयाबी की राह गरीबों के पेट से होकर ही गुजरती है। अम्मा कैंटीन की तर्ज पर तमिलनाडु, यूपी, एमपी, राजस्थान, ओडिशा और कर्नाटक समेत देश के बाकी राज्यों में भी गरीबों को सस्ता खाना मुहैया करवाने के लिए कई कैंटीन खोली जा चुकी हैं।

canteen

तमिलनाडु में अम्मा कैंटीन
तमिलनाडु में अम्मा कैंटीन को 2013 में लागू किया गया, जहां रोटी 3 रुपए में मिलती है और दाल मुफ्त। इसके साथ ही दक्षिण भारतीय खाने की भी व्यवस्था की गई, ये कार्यक्रम काफी लोकप्रिय भी हुआ है। नाश्ते में इडली एक रुपए में, जबकि पोंगल पांच रुपए में मिलता है। वहीं लंच में सांभर-चावल पांच रुपए में, जबकि दही-चावल तीन रुपए में मिलते हैं।

canteen

आंध्र प्रदेश में अन्ना कैंटीन
आंध्र प्रदेश में एनटीआर अन्ना कैंटीन 2016 में चंद्र बाबू नायडू ने शुरू की थी। इसमें गरीबों को 5 रुपए में इडली, उपमा, पोंगल का नाश्ता और 7.50 रुपए का लंच और डिनर कराया जाता है। तेलंगाना में 2014 से 50 जगहों पर 5 रुपए में भरपेट खाना मिलता है।

मध्यप्रदेश में दीनदयाल रसोई योजना
तमिलनाडु में पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता द्वारा चलाई गई अम्मा कैंटीन की तर्ज पर मध्यप्रदेश सरकार की लोकलुभावन दीनदयाल रसोई योजना की शुरुआत इसी साल अप्रेल में हो गई है। इसके तहत पांच रुपए में गरीबों को भरपेट थाली भर भोजन मिल रहा है।

ओडिशा में आहार योजना
जिलों के 111 केंद्रों पर 5 रुपए में चावल और दालमा (परंपरागत व्यंजन जो दाल और सब्जी से बनता है) का खाने का प्लेट मिल रहा है।

canteen

हिमाचल में राजीव थाली योजना
हिमाचल प्रदेश में फरवरी, 2017 में 'राजीव थाली योजनाÓ की शुरुआत की गई, जिसमें 25 रुपए में भोजन की थाली
मिलती है।

दिल्ली में आम आदमी कैंटीन
दिल्ली में जनवरी 2017 में आम आदमी कैंटीन की शुरुआत की गई, जहां 10 रुपए में खाना मिलता है। इसे लोकनारायण जयप्रकाश अस्पताल से शुरू किया गया।

canteen

झारखंड में दाल-भात योजना
झारखंड में 370 केंद्रों पर मुख्यमंत्री दाल-भात योजना चल रही है। इसे अर्जुन मुंडा के कार्यकाल में लागू किया गया था। इसमें पांच रुपए में दाल-चावल और सब्जी दी जाती है।

राजस्थान में अन्नपूर्णा रसोई
राजस्थान में अन्नपूर्णा रसोई चल रही है जहां १५ दिसंबर, 2016 से गरीबों को 5 रुपए में नाश्ता व 8 रुपए में खाना मिल रहा है। 12 शहरों में 80 भोजन वैन भी चल रही हैं।

 

उत्तरप्रदेश में अन्नपूर्णा भोजनालय
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार तमिलनाडु में अम्मा कैंटीन की तर्ज पर जल्द ही अन्नपूर्णा भोजनालय शुरू करने जा रही है। इस भोजनालय में मात्र तीन रुपए में नाश्ता और पांच रुपए में खाना उपलब्ध कराया जाएगा। इससे पहले अखिलेश यादव सरकार में समाजवादी कैंटीन चलाती थी। इसमें नाश्ते में दलिया, इडली-सांभर, पोहा और चाय-पकोड़ा होगा तो खाने में रोटी, मौसम की सब्जियां, अरहर की दाल और चावल मिलेगा।

canteen

कर्नाटक में इंदिरा कैंटीन
कर्नाटक में इसी साल से 16 अगस्त से सिर्फ 10 रुपए में भरपेट खाना मुहैया करवाने वाली इंदिरा कैंटीन का आगाज हो गया है। शुरुआत में इसे नम्मा कैंटीन नाम दिया गया था। इस कैंटीन में सुबह का नाश्ता 5 रुपए और लंच व डिनर 10 रुपए में देने की योजना है। अभी यह बेंगलूरु में शुरू की गई है, बाद में इसे बाकी जिलों में लागू किया जाएगा।

Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned