Greta Toolkit : 47 पूर्व जजों और आईपीएस अधिकारियों ने राष्ट्रपति को लिखी चिट्ठी, साजिश से सावधान रहने की अपील की

  • टूलकिट देश के खिलाफ एक साजिश।
  • किसान आंदोलन के जरिए असामाजिक तत्वों को भड़काने की कोशिश जारी।

नई दिल्ली। देश को एक योजना के तहत वैश्विक स्तर पर बदनाम करने के मामले में 47 पूर्व जजों और आईपीएस अफसरों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक चिट्ठी लिखी है। पूर्व जजों और आईपीएस अधिकारियों के एक फोरम ने दिशा रवि मामले में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखा है।

देश को दुनिया में बदनाम करने की कोशिश

इस फोरम के 47 सदस्यों ने अपने पत्र में कहा है कि टूलकिट मामला देश को बदनाम करने वालों की साजिश है। पत्र में ऐसे लोगों का कवच बनकर खड़े समूहों को भी उल्लेख किया गया है। राष्ट्रपति से मांग की गई है कि दिल्ली पुलिस की जांच को दबाव डाल कर और दुष्प्रचार कर बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। इससे सावधान रहने की ज़रूरत है।

दिशा रवि की गिरफ्तारी को ठहराया सही

पूर्व जजों और आईपीएस अधिकारियों दिल्ली पुलिस द्वारा बेंगलुरु निवासी दिशा रवि की गिरफ्तारी साजिशकर्ताओं में शामिल होने की वजह से की गई है। टूलकिट कुछ लोगों के बीच विभिन्न मीडिया हाउस, स्थापित फैक्ट चेकर्स और एनजीओ के जरिए भारत को बदनाम करने की साजिश है। इतना ही नहीं किसान अांदोलन की आड़ में असामाजिक और देश विरोधी कृत्यों को उकसाया जा रहा है।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned