IIT दिल्ली की स्टार्टअप कंपनी ने बनाया खास मास्क, 50 बार यूज करने पर भी नहीं होगा खराब

  • N-Safe Mask : इस मास्क को तैयार करने में नैनोसेफ सॉल्यूशंस की भी अहम भूमिका रही
  • यह मास्क 99.2 प्रतिशत बैक्टीरिया को रोकने में सक्षम है

By: Soma Roy

Published: 08 May 2020, 02:37 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) हमारे शरीर में प्रवेश न करें इसके लिए मास्क का लगाना बेहद जरूरी है। मगर मार्केट में उपलब्ध ज्यादातर मास्क (Face Mask) इसकी रोकथाम के लिए नाकाफी है। वहीं डिस्पोसेबल मास्क को दोबारा यूज नहीं किया जा सकता है, इसलिए हर रोज नया मास्क खरीदना लोगों के लिए संभव नहीं। ऐसे में दिल्ली IIT की स्टार्टअप कंपनी ने एक असरदार मास्क तैयार किया है। जिसका नाम 'N-Safe' है। यह एक एंटी-माइक्रोबियल और वॉशेबल फेस मास्क बनाया है।

इस मास्क को 50 बार तक धोकर दोबारा यूज किया जा सकता है। ऐसा करने से ये खराब नहीं होगा। मास्क के एक पैक की कीमत 299 रुपये रखी गई है जिसमें कि दो मास्क होंगे। संस्थान ने दावा किया है कि N-Safe मास्क एक ट्रिपल लेयर वाला उत्पाद है। इसके अंदर के हिस्से में हाइड्रोफिलिक परत है। जबकि बीच वाले हिस्से में रोगाणुरोधी गतिविधि रोकने के लिए एक शीट लगाई गई है और सबसे ऊपरी परत पानी और तेल रोधी बनाई गई है। मास्क को बनाने में IIT दिल्ली की पूर्व छात्र और नैनोसेफ सॉल्यूशंस की संस्थापक व सीईओ डॉ अनसूया रॉय और टेक्सटाइल एंड फाइबर इंजीनियरिंग विभाग, IIT- दिल्ली की निदेशक व स्टार्टअप की संस्थापक प्रो मंगला जोशी की मुख्य भूमिका रही। इस सिलसिले में स्टार्टअप की सीईओ का कहना है कि यह मास्क 99.2 प्रतिशत बैक्टीरिया को रोकता है।

डॉ. अनसूया रॉय का कहना है कि 'इस वक्त हम एक दिन में 5000 मास्क बना रहे हैं, लेकिन हम इसे 10000 मास्क तक बढ़ाने जा रहे हैं। ये काम अगले 2-3 दिन में संभव हो जाना चाहिए। हमारा प्रति माह मास्क बनाने का लक्ष्य 5 लाख है।

coronavirus
Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned