इसरो ने शुरू किया PSLVC48 की लॉन्चिंग का काउंट डाउन, आज श्रीहरिकोट से भरेगा उड़ान

  • पृथ्वी की निगरानी के लिए भेजा जा रहा है सैटेलाइट।
  • मंगलवार शाम 4.40 बजे से शुरू हो गई उल्टी गिनती।
  • इस लॉन्चर के साथ चार विदेशी उपग्रह भी भेजे जाएंगे।

चेन्नई। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) बुधवार को #PSLVC48/#RISAT2BR1 मिशन लॉन्च करेगा। इसके लिए मंगलवार शाम से काउंट डाउन शुरू हो गया। इसरो बुधवार को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर (एसडीएससी) से इस सैटेलाइट को लॉन्च करेगा।

बुधवार को इसरो पृथ्वी की निगरानी के लिए एक नया अध्याय लिखेगा। इस संबंध में इसरो के एक अधिकारी ने कहा कि भारत 11 दिसंबर को दोपहर 3.25 बजे सिंथेटिक अपर्चर रडार के साथ अपने निगरानी उपग्रह रिसेट-2 बीआर1 और 9 कमर्शियल सैटेलाइट्स को लॉन्च करेगा।

इसरो के एक अधिकारी ने कहा, "यह अंतरिक्ष मिशन एक रडार इमेजिंग उपग्रह रिसेट-2 बीआर1 है। रॉकेट का प्रक्षेपण बुधवार 11 दिसंबर को दोपहर 1325 बजे होगा।

पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी) में 615 किलोग्राम वजनी रिसेट-2 बीआर1 और 9 विदेशी व्यवसायिक उपग्रह भी होंगे, जिन्हें उचित शुल्क के साथ ले जाया जा रहा है।

अधिकारी के अनुसार, सिंथेटिक अपर्चर रडार के साथ एक और रडार इमेजिंग उपग्रह 2बीआर2 जल्द ही 11 दिसंबर के मिशन के बाद लॉन्च होगा। इस तरह के तेज-तर्रार उपग्रहों का एक समूह निरंतर पृथ्वी पर निगरानी के लिए आवश्यक है।

इस साल मई में इसरो ने 615 किलोग्राम वजनी रिसेट-2बी को लॉन्च किया था। अगले रडार इमेजिंग उपग्रह रिसेट-2बीआर2 के भी जल्द ही लॉन्च होने की उम्मीद है, जिसमें दो छोटे विदेशी उपग्रह भी शामिल होंगे।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned