Eid ul fitr 2020: JK और केरल में आज मनाई जा रही ईद, देश के अन्य राज्यों में सोमवार को मनेगी

  • Eid ul fitr 2020: जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) और केरल ( Kerala ) में आज मनाई जा रही ईद
  • देश के अन्य राज्यों में सोमवार को मनाया जाएगा ईद-उल-फितर ( Eid ul fitr )
  • लोगो से Lockdown के नियमों को पालन करने की अपील

नई दिल्ली। एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस ( coronavirus ) की चपेट में है। वहीं, दूसरी तरफ आज जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) और केरल ( Kerala ) में ईद-उल-फितर ( Eid Ul Fitr ) मनाया जा रहा है। हालांकि, देश के अन्य राज्यों में सोमवार को ईद ( EID ) मनाई जाएगी। लेकिन, इस बार ईद उस तरह से नहीं मनाई जा रही है जैसे हर साल मनाई जाती है। कोरोना संकट और लॉकडाउन ( Lockdown ) के कारण कई सारी पाबंदियां लगी है। लिहाजा, इस बार न तो भीड़ करने की इजाजत है और न ही खुलेआम घूमने की।

जम्मू-कश्मीर और केरल में शनिवार को दिखा चांद

जम्मू-कश्मीर और केरल में शनिवार को ईद का चांद दिखा था। लिहाजा, इन दोनों राज्यों में रविवार यानी ईद मनायी जा रही है। शनिवार को श्रीनगर ( Srinagar ) में ग्रैंड मुफ्ती नसीर-उल-इस्लाम ( Nasir-ul-Islam ) ने कहा था कि घाटी में ईद का चांद दिख गया है। इसलिए, यहां रविवार को ईद मनायी जाएगी। नसील-उल-इस्लाम ने घाटी में रेड जोन ( Red Zone ) में रहने वाले लोगों से घर के अंदर ही ईद की नमाज अता करने की सलाह दी। वहीं, केरल के मौलवियों ने शनिवार को कहा था कि यहां ईद का चांद दिख गया है और रविवार को ईद मनायी जाएगी। हालांकि, जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ( Syed Ahmed Bukhari ) ने कहा कि देश में कहीं से चांद दिखने की सूचना नहीं है। लिहाजा, 25 मई को देशभर में ईद मनायी जाएगी।

सोशल डिस्टेसिंग बनाए रखने की अपील

जम्मू-कश्मीर, केरल में मौलानाओं ने लोगों से अपील की है कि इस समय में देश में कोरोना संकट गहराया है। लिहाजा, नमाज पढ़ते वक्त और लोगों से मिलते वक्त सोशल डिस्टेंसिंग ( Social Distancing ) का ध्यान जरूर रखें। वहीं, ग्रीन जोन ( Green Zone ) में रहने वाले लोगों से अपील की गई है कि केवल 10 से 20 लोग एक बार में मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए इकट्ठा हों। साथ ही सभी लोगों से फेस मास्क लगाने के लिए भी कहा गया है। मौलवियों ने यह भी कहा है कि लॉकडाउन को लेकर जो गाइलडाइन जारी किए गए हैं, उनके नियमों को जरूर फॉलो करें। हालांकि, लोगों से कहा गया है कि हो सके तो घर के अंदर ही ईद की नमाज अता करें। गौरतलब है कि इससे पहले दारुल उलूम देवबन्द ने फतवा जारी कहा था कि इस बार लोग घर में ही नमाज पढ़े हैं। साथ ही अगर मजबूरी के कारण जो लोग इस बार ईद की नमाज नहीं पढ़ सकते हैं, उन्हें इस बार माफ कर दिया जाएगा।

Eid coronavirus COVID-19
Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned