Lockdown : मीलों के सफर में मिले एक बिस्किट के पैकेट ने युवक को किया भावुक, फफक कर रोया

  • Lockdown Impact : संभल जिले के बनियाठेर क्षेत्र में कुछ लोगों को मिली राहत, बांटे गए बिस्किट के पैकेट
  • प्रयागराज में भी पुलिस ने लोगों को बांटा खाना

By: Soma Roy

Published: 28 Mar 2020, 03:29 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना (Coronavirus) की जंग से निपटने के लिए देश के पास अभी सिर्फ लॉकडाउन (Lockdown) ही एक विकल्प है। इसलिए लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है, लेकिन इस मुश्किल घड़ी में आखिर वो लोग क्या करें जो घर से दूर रोजी-रोटी कमाने के लिए दूसरे शहरों में रह रहे थे। उनके पास न तो छत है और न ही पैसे। ऐसे में लॉकडाउन में सारी चीजें बंद होने से उन्हें लौटने की समस्या हो गई। कई लोग तो भूखे प्यासे ही सैकड़ों मील की दूरी पैदल ही तय कर रहे हैं। तभी प्रयागराज और दूसरी जगहों से मिली कुछ खबरों ने सबको भावुक (emotional) कर दिया।

दरअसल भूखे-प्यासे घर की ओर चल रहे मजदूरों को रास्ते में खाना तक नहीं मिल पा रहा था। ऐसे में जैसे ही वे प्रयागराज पहुंचे तो उन्होंने चैन की सांस ली। यहां खुद पुलिसवाले अपने हाथों से खाना बनाकर बांट रहे थे। ये देख कई मजदूरों ने कहा कि उनके लिए पुलिसवाले किसी फरिश्ते से कम नहीं है। इसी तरह संभल जिले के थाना बनियाठेर गेट पर तीन युवक मथुरा से पैदल चलकर रामपुर जा रहे थे। रास्ते में पुलिस ने उन्हें खाने के लिए बिस्कुट उपलब्ध कराया। यह देख उनमें से एक युवक फफक कर रो पड़ा। दरअसल उसके लिए ये महज एक बिस्कुट का पैकेट नहीं बल्कि जीने की उम्मीद थी।

buiscuit1.jpg

गरीबों में खाना बांटने के दौरान एक अधिकारी ने बताया कि सभी थानाध्यक्षों और पुलिस की गाड़ियों को सूचित किया गया है कि कहीं भी भूखा व्यक्ति मिलता है तो एनजीओ की मदद से या फिर अपने स्तर पर उनकी मदद करें। यदि कोई संस्था गरीबों को भोजन मुहैया कराना चाहती है तो वे पुलिस के 112 नंबर को डायल कर सकते हैं। मालूम हो कि लॉकडाउन की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कुछ कंपनियों को आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी की व्यवस्था करने को कहा है।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned