शहीद की पत्नी ने नहीं लिए 5 लाख रुपए, कहा- सरकार शहादत का अपमान कर रही है

शहीद की पत्नी ने नहीं लिए 5 लाख रुपए, कहा- सरकार शहादत का अपमान कर रही है

बिहार के रहने वाले अजय यादव की पत्नी ने कहा है कि राज्य सरकार उनके पति की शहादत का अपमान कर रही है।

सुकमा: मंगलवार को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में हुए नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 6 जवान शहीद हो गए थे। बुधवार को सभी शहीद जवानों का अंतिम संस्कार उनके गृहनगर में कर दिया गया। इसी बीच शहादत देने वालों में बिहार के निवासी अजय यादव भी थे। मुंगेर जिले के जमालपुर के सिकंदरपुर गांव के रहने वाले अजय यादव की शहादत से उनका परिवार बहुत आहत हुआ है। उनकी पत्नी ने राज्य सरकार की तरफ से दी जाने वाली आर्थिक मदद को लेने से भी इनकार कर दिया है।

पत्नी ने कहा- इतनी राशि तो हादसे में मारे गए लोगों को मिल जाती है

बिहार सरकार की ओर शहीद के सम्मान में दिए जाने वाले पांच लाख की राशि को शहीद जवान अजय यादव की पत्नी सुप्रिया यादव ने वापस कर दिया है। उनका कहना है कि सरकार उनके पति की शहादत का अपमान कर रही है, इतनी राशि तो सड़क हादसे में मारे जाने वालों के परिजनों के मिल जाती है। इतना ही नहीं सरकार के इस रवैये से स्थानीय लोगों में भी काफी नाराजगी है।

मदद के लिए पहुंचे डीएम को परिवार ने वापस भेजा

बुधवार को इलाके के डीएम पांच लाख की राशि के साथ शहीद अजय यादव के घर पहुंचे, लेकिन परिवार ने राहत राशि के साथ ही उन्हें वापस भेज दिया। डीएम ने कहा है कि इस मुद्दे पर राज्य सरकार से बात की जाएगी। शहीद जवान के घर सांत्वना देने जिलाधिकारी उदय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक आशीष भारती और सदर अनुमंडल पदाधिकारी कुंदन कुमार सिकंदरपुर पहुंचे थे।

मंगलवार को नक्सली हमले में शहीद हो गए थे 6 जवान

आपको बता दें मंगलवार को सुकमा के किस्टाराम इलाके में नक्सलियों ने सीआरपीएफ की एक टुकड़ी पर घात लगाकर हमला किया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 6 जवान शहीद हो गए थे। इसमें बिहार के मुंगेर के रहने वाले जवान अजय यादव भी थे।

शहीद के भाई आरपीएफ के जवान सदानंद यादव ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली पांच लाख की राशि चेक शहीद परिवार के लिए अपमान है। उन्होंने कहा की सरकार से हमारी मांग है कि शहीद के बच्चे और उनकी पत्नी के लिए सरकार कुछ ऐसा कर दे जिससे उसका जीवन-यापन अच्छा हो।

Ad Block is Banned