महबूबा मुफ्ती की पीएम मोदी से अपील, पाकिस्तान से बातचीत कर अटलजी के सपने को पूरा करें

महबूबा मुफ्ती की पीएम मोदी से अपील, पाकिस्तान से बातचीत कर अटलजी के सपने को पूरा करें

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि पीएम मोदी को उस बात को आगे बढ़ाना चाहिए जहां अटल बिहारी वाजपेयी जी ने छोड़ी थी। ताकि जम्मू-कश्मीर में यह जो अफरा तफरी का माहौल है यह खत्म हो जाए।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर से पाकिस्तान के साथ बातचीत का राग अलापा है। मंगलवार को राजौरी सेक्टर में एक सभा को संबोधित करने पहुंची महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी से अपील की है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पाकिस्तान के साथ जहां बातचीत को अधूरा छोड़ा था, उसे वहीं से शुरू किया जाए। महबूबा मुफ्ती ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से अच्छे संबंधों को स्थापित करें। मुफ्ती ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तरह कश्मीर मुद्दे को देखें जिससे घाटी में शांति व्यवस्था कायम हो सके।

महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी से की अपील

महबूबा मुफ्ती यहां एक पीडीपी के कार्यक्रम में पहुंची थीं। इस दौरान उन्होंने पीडीपी कार्यकर्ताओं और नेताओं को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा, ''मैं, प्रधानमंत्री से अपील करती हूं कि वो पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के साथ बातचीत का सिलसिला दोबारा शुरु करें जहां से पूर्व प्रधनमंत्री वाजपेयी ने छोड़ा था। तभी घाटी में जारी हिंसा का खात्मा हो सकेगा।''

वाजपेयी जी ने जहां छोड़ी थी बातचीत, उसे आगे बढ़ाएं मोदी- महबूबा

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि मैं पीएम मोदी से ये कहना चाहती हूं कि इमरान खान अभी पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बने हैं ये अच्छा मौका है उनके साथ बातचीत कर दोनों देशों के रिश्तों को सुधारा जाए। महबूबा कहती हैं कि पीएम मोदी को इमरान खान से मुलाकात करनी चाहिए और उनसे बात करनी चाहिए। पीएम मोदी को उस बात को आगे बढ़ाना चाहिए जहां अटल बिहारी वाजपेयी जी ने छोड़ी थी। ताकि जम्मू-कश्मीर में यह जो अफरा तफरी का माहौल है यह खत्म हो जाए।

पहले भी पाकिस्तान के साथ बातचीत की कर चुकी हैं अपील

महबूबा की तरफ से ये कोई पहली बार नहीं है कि उन्होंने पाकिस्तान के साथ बातचीच करने की अपील की है। इससे पहले भी महबूबा मुफ्ती ने उस वक्त पाकिस्तान के साथ बातचीत करने की अपील की थी, जब पाकिस्तान से आए आतंकी और सैनिक भारत के जवानों को मार रहे थे। आपको बता दें कि कुछ समय पहले ही कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी का गठबंधन टूटा है और फिलाहल घाटी में राज्यपाल शासन लगा हुआ है।

Ad Block is Banned