मौसम विभाग की चेतावनीः 20 से ज्यादा राज्यों में 48 घंटे के अंदर जमकर बरसेंगे बदरा, हिमाचल में 6 दिन का हाई अलर्ट

मौसम विभाग की चेतावनीः 20 से ज्यादा राज्यों में 48 घंटे के अंदर जमकर बरसेंगे बदरा, हिमाचल में 6 दिन का हाई अलर्ट

देश के कई राज्यों में जरूरत से ज्यादा मेहरबान मानसून, अगले 48 घंटों में 20 से ज्यादा राज्यों में हो सकती है भारी बारिश।

नई दिल्ली। देश भर में मानसून अपने चरम पर है। कई राज्यों में तो मानसून ने जमकर तबाही मचाई हुई है। मौसम विभाग की माने तो आने वाले 48 घंटे में भी मानसून की रफ्तार में किसी भी तरह की कोई कमी नहीं होगी। बल्कि देश के 20 से ज्यादा राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। सबसे बड़ा अलर्ट हिमाचल प्रदेश के लिए जारी किया गया है, यहां मौसम विभाग ने अगले 6 दिन में मानसून के ज्यादा मेहरबान रहने की चेतावनी दी है।


पहाड़ों पर आसमानी आफत
मानसून की रफ्तार ने देश के पहाड़ी इलाकों से लेकर मैदानी इलाकों तक कई जगह पर अपनी जोरदार आमद दर्ज करवा दी है। पहाड़ी इलाकों की बात करें को कुल्लू में बादल फटने से जमकर तबाही मची है। बंजार के तीर्थन घाटी में गुरुवार देर रात बादल फटने से नागनी पंचायत के साईरोपा और गहिधार और दाड़ी गांव में जमकर नुकसान हुआ। इसमें दो मकान, एक गौशाला बह गई है।

 

वहीं उत्तराखंड में भी भारी बारिश और भूस्खलन ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है। भूस्खलन के चलते यहां आवगमन के कई रास्तों पर बुरा असर पड़ा है। वहीं बचाव दल की ओर से लगातार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है। मौसम विभाग की माने आने वाले तीन-चार दिनों में यहां भारी बारिश की संभावना है।

 

इन राज्यों में जारी किया गया अलर्ट
दिल्ली, झारखंड, बिहार, पश्चिमी बंगाल, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, मध्यप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, सिक्किम, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल

 

केरल में मची तबाही
भारी बारिश और लैंडस्लाइड ने केरल में पिछले 24 घंटों में जमकर तबाही मचाई है। इस तबाही की चपेट में आकर अब तक 26 लोगों की मौत हो चुकी है। कई निचले इलाकों में पानी भर गया है तो कहीं भूस्खलन ने जमकर कहर बरपाया है। बारिश और भूस्खलन का सबसे ज्यादा असर केरल के इडुक्की जिले में देखने को मिला है। यहां कम से कम 11 लोगों को कूदरत के कहर के आगे जान गंवानी पड़ी है। 10 हजार से ज्यादा लोगों को राहत शिविर में विस्थापित किया गया है। केरल में आई की प्राकृतिक आपदा को लेकर एनडीआरएफ की टीम मुस्तैद है, बचाव कार्य के दौरान अब तक दो लोगों को मौत के मुंह से निकाला भी जा चुका है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned