टूल किट केस : शांतिपूर्ण प्रदर्शन व अभिव्यक्ति की आजादी है समझौते से परे- ग्रेटा थनबर्ग

- दिशा रवि के समर्थन में ग्रेटा ने किया  ट्वीट।
- किसान आंदोलन से जुड़े टूल किट मामल आया नया मोड़।

नई दिल्ली । किसान आंदोलन से जुड़े टूल किट मामले में शुक्रवार को नया मोड़ आया। लंबी चुप्पी के बाद जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने दिशा रवि के समर्थन में ट्वीट किया। ग्रेटा ने लिखा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता व शांतिपूर्ण प्रदर्शन ऐसा मानवाधिकार है, जिससे कोई समझौता नहीं हो सकता। यह किसी भी लोकतंत्र का मूल हिस्सा होना चाहिए। उधर, दिल्ली की एक कोर्ट ने दिशा रवि को तीन दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। दिल्ली हाईकोर्ट ने टूल किट मामले में टीवी चैनलों को निर्देश दिए कि वे सूचना प्रसारण में उचित संपादकीय नियंत्रण सुनिश्चित करें, जिससे जांच प्रभावित न हो।

दिशा रवि की याचिका में पुलिस को जांच सामग्री मीडिया को लीक करने से रोकने का आग्रह किया गया था। कोर्ट ने पाया कि कवरेज के दौरान सनसनीखेज रिपोर्टिंग की गई। कोर्ट ने कहा कि निजता के अधिकार और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को संतुलित करने की जरूरत है। पुलिस ने सह-अभियुक्त शांतनु मुकुल को 22 फरवरी को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भी भेजा है।

टालमटोल रवैया - पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान दिशा रवि ने टालमटोल रवैया अपनाया तथा सह-आरोपियों पर दोष मढऩे की कोशिश की।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned