चीन की निगरानी में देश के दिग्गजः राष्ट्रपति, PM Modi, रक्षामंत्री समेत 10 हजार हस्तियों की हो रही ट्रैकिंग

  • बड़ा खुलासा: शेनजेन की बड़ी डेटा कंपनी 10 हजार हस्तियों की कर रही जासूसी
  • परिवार से लेकर कामकाज तक पर रखी जा रही नजर
  • पीएम मोदी की पत्नी यशोदा बेन की भी की जा रही ट्रेकिंग

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीजेआइ एसए बोबडे, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जैसी टॉप हस्तियां चीन की निगरानी में है। चीन सरकार और चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़ी शेनजेन की एक बड़ी डेटा कंपनी 'झेनहुआ डेटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी' 10 हजार से अधिक भारतीय लोगों और संगठनों की निगरानी कर रही है। इस बात का खुलासा अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की पड़ताल में हुआ है। यह डेटा कंपनी 'हाइब्रिड युद्ध' और 'चीनी राष्ट्र के महान कायाकल्पट के लिए खुद को बिग डेटा का प्रयोग करने में अग्रणी बताती है।

इन हस्तियों के नाम शामिल

कंपनी इन हस्तियों की रियल टाइम निगरानी कर रही है। इसमें उनसे जुड़ी हर छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी सूचना शामिल है। चीन की निगरानी में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, महाराष्ट्रके सीएम उद्धव ठाकरे, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह भी शामिल हैं।

इंग्लैंड के स्टार गेंदबाज जोफ्रा आर्चर की खतरनाक बाउंसर ने उड़ाई कंगारुओं की नींद, जानें क्यों हो रही है चर्चा

झेनहुआ का दावा है कि वह चीनी खुफिया, सैन्य और सुरक्षा एजेंसियों के साथ काम करती है। दो महीनों तक बिग डेटा टूल्स के जरिए की गई इस पड़ताल के दौरान झेनहुआ के ऑपरेशंस से जुड़े मेटा डेटा की जांच की। इसमें बड़े पैमाने पर लॉग फाइल के डंप से भारतीय संस्थाओं से जुड़ी जानकारी निकाली गई। कंपनी ने इसे ओवरसीज की इन्फोर्मेशन डेटाबेस (ओकेआइबीडी) का नाम दिया था। इसमें अमरीका, यूके, जापान, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जर्मनी और यूएई की भी एंट्रीज हैं।


इन पर भी निगाह
- कानून और आइटी मंत्री रविशंकर प्रसाद , वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और पीयूष गोयल।
- सेना, नौसेना और वायु सेना के कम से कम 15 पूर्व प्रमुख
- सुप्रीम कोर्ट के जज एएम खानविल्कर, लोकपाल जस्टिस पीसी घोष और सीएजी जीसी मुर्मू
- रतन टाटा और गौतम अडाणी से लेकर अन्य शीर्ष उद्यमी
- भारत पे के संस्थापक निपुण मेहरा, ऑथेंटिकेशन टेक्नोलॉजी कंपनी ऑथब्रिज के अजय त्रेहन

वैज्ञानिक, शिक्षाविद और पत्रकार की भी जासूसी
चीनी निगरानी में प्रमुख पदों पर बैठे अफसर, जज, वैज्ञानिक, शिक्षाविद, पत्रकार, अभिनेता, खिलाड़ी, धार्मिक हस्तियां और एक्टिविस्ट शामिल हैं। इतना ही नहीं वित्तीय अपराध, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, और मादक पदार्थों, सोने, हथियारों या वन्यजीवों की तस्करी के सैकड़ों अभियुक्त भी इनमें शामिल हैं।

पीएम मोदी की पत्नी जशोदा बेन की भी ट्रैकिंग
ओकेआईडीबी लोगों के रिश्तेदारों को भी ट्रैक करता है। जिनकी जासूसी की गई है उनमें प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी जशोदाबेन, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद; पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर और उनकी बेटियां उपिंदर, दमन, अमृत, राजीव गांधी, राहुल गांधी, बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा, स्मृति ईरानी के पति जुबिन ईरानी, हरसिमरत कौर के पति सुखबीर सिंह बादल, भाई बिक्रम सिंह मजीठिया और पिता सत्यजीत सिंह मजीठिया, अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव, पत्नी डिंपल, ससुर आर सी रावत, चाचा शिवपाल सिंह और राम गोपाल यादव शामिल हैं।

नीट की परीक्षा के विरोध का सांसदों ने अपनाया अनूठा तरीका, जानें किस तरह केंद्र सरकार से पूछे अहम सवाल

पूर्व मुख्यमंत्रियो के नाम भी शामिल
झेन्हुआ की लिस्ट में महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण और कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया के साथ ही कई दलों के नेता शामिल हैं। डीएमके के दिवंगत एम करुणानिधि, बसपा के स्वर्गीय कांशी राम और राजद के लालू प्रसाद यादव भी इनमें शामिल हैं।

इस डेटाबेस में 250 से अधिक भारतीय नौकरशाहों और राजनयिकों का स्ट्रेटेजिक कलेक्शन हैं, जिसमें विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला, नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत, 23 पूर्व और वर्तमान मुख्य सचिव और राज्यों के एक दर्जन से अधिक पूर्व और वर्तमान पुलिस प्रमुख भी शामिल हैं।

PM Narendra Modi
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned