Corona Crisis: 15 अप्रैल से देश में चलेंगी ये ट्रेन! इस तरह खास प्लान तैयार कर रहा रेलवे

  • भारत में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना वायरस ( coronavirus )
  • सरकार देश में लॉकडाउन ( Lockdown ) की अवधि दोबारा बढ़ा सकती है
  • भारतीय रेलवे ( Indian Railway ) 15 अप्रैल से रेल सेवा बहाल करने की तैयारी कर रही!

नई दिल्ली। चीन ( China ) के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ( coronavirus ) का कहर पूरी दुनिया में जारी है। भारत ( corona in india ) में भी काफी तेजी से यह वायरस फैल रहा है। मामले की गंभीरता को देखते हुए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। चर्चा यहां तक है कि लॉकडाउन ( Lockdown ) की अवधि को दोबारा बढ़ाया जा सकता है। वहीं, भारतीय रेलवे ( Indian Railway ) खास प्लान के साथ रेल सेवा को दोबारा से शुरू होने के पक्ष मे है। इस बाबत रेलवे की ओर से खास प्लान भी तैयार किया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रेलवे के अधिकारी फिलहाल देश में कोरोना से अधिक प्रभावित क्षेत्रों में रेल सेवाओं को शुरू करने के पक्ष में नहीं हैं। साथ-साथ सर्विसेज को शुरू करने की स्थितियों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए कोच में मिडिल बर्थ को खाली रखने और थर्मल चेकिंग जैसे एहतियात को बरतने पर भी जोर दिया जा रहा है। रेलवे बोर्ड के चीफ वीके यादव ने हाल ही में उच्च अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई अपनी एक मीटिंग में सरकार की योजना को लेकर जानकारियां साझा की हैं। इस प्लान के तहत रेलवे के अधिकारी देश के रेल नेटवर्क को कुल तीन जोन यानी रेड, येलो और ग्रीन जोन में बांटने की तैयारी कर रहे हैं।

रेड जोन में फिलहाल कोई भी ट्रेन चलाने का प्लान नहीं है। वहीं, येलो जोन में सीमित संख्या में सर्विसेज का संचालन होगा। जबकि, ग्रीन जोन में सर्विसेज को पूरी तरह से शुरू करने का प्लान है। हालांकि, यह भी कहा जा रहा है कि अभी केवल प्लान ही तैयार किया गया है। सेवाओं को शुरू करने को लेकर कोई भी फैसला नहीं किया गया है। इसके अलावा रेलवे ने ये प्लान भी बनाया है कि रेगुलर सर्विस की अपेक्षा फिलहाल देश में स्पेशल ट्रेनों का ही संचालन शुरू कराया जाए। इन ट्रेनों में सिर्फ रिजर्वेशन के जरिए ही सीटों की बुकिंग की जाए और जनरल बोगी में किसी को भी यात्रा की इजाजत नहीं दी जाएगी। दरअसल, अधिकारियों का कहना है कि रिजर्वेशन से ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों की डिटेल्स ट्रैक करना आसान होगा। वहीं, मीडिल बर्थ की बुकिंग न करके सोशल डिस्टेंसिंग को भी मेंटेन किया जा सकता है।

रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि यात्रा से पहले स्टेशन पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई जा सकती है। इसके अलावा ट्रेन के अंदर खाना सर्व नहीं किया जाएगा और चादर-कंबल भी नहीं दिया जाएगा। वहीं, रेड जोन में आने वाले चार महानगरों को ट्रेन की सर्विस अभी नहीं मिल सकेगी।

Show More
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned