scriptSC seeks WB, Centre reply on plea seeking SIT probe in violence | चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट ने मांगा मोदी और ममता सरकार से जवाब | Patrika News

चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट ने मांगा मोदी और ममता सरकार से जवाब

याचिका में सुप्रीम कोर्ट से राज्य में राजनीतिक हिंसा और लक्षित हत्याओं की घटनाओं की जांच करने और मामला दर्ज करने के लिए एक एसआईटी गठित करने का आग्रह किया गया था।

नई दिल्ली

Updated: May 25, 2021 03:04:04 pm

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र से उस जनहित याचिका पर जवाब की मांग की है, जिसमें राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा को लेकर एसआईटी जांच की मांग की गई थी। साथ ही, इस याचिका में टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा कथित रूप से की गई हिंसा के चलते आंतरिक रूप से विस्थापित लाखों लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने की भी बात कही गई थी। याचिकाकर्ताओं की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पिंकी आनंद ने न्यायमूर्ति विनीत सरन और न्यायमूर्ति बी.आर. गवई की पीठ के समक्ष अपना पक्ष रखा कि विभिन्न मानवाधिकार आयोगों ने इस हिंसा पर रिपोर्ट की है और कोर्ट से इन रिपोटरें पर गौर फरमाने का आग्रह किया है।

SC seeks WB, Centre reply on plea seeking SIT probe in violence
SC seeks WB, Centre reply on plea seeking SIT probe in violence

यह भी पढ़ेंः- चक्रवाती तूफान 'यस' की वजह से ओडिशा और पश्चिम बंगाल में येलो अलर्ट घोषित

जून में होगी अगली तारीख
पिंकी आनंद ने कहा कि राष्ट्रीय महिला आयोग ने विस्थापित महिलाओं की मदद की है। उन्होंने इन संगठनों के खिलाफ अभियोग चलाए जाने की भी मांग की। आनंद के अनुरोध पर पीठ ने सामाजिक कार्यकर्ता अरुण मुखर्जी और चार अन्य द्वारा दायर जनहित याचिका में एनएचआरसी और राष्ट्रीय महिला आयोग को लेकर एक पक्ष बनाने को कहा। पीठ ने पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया और मामले की अगली सुनवाई के लिए जून की तारीख तय की।

यह भी पढ़ेंः- कोविड की दूसरी लहर के बीच फ्लिपकार्ट ने दिया 23 हजार लोगों को रोजगार

इन लोगों ने डाली थी याचिका
याचिका में सुप्रीम कोर्ट से राज्य में राजनीतिक हिंसा और लक्षित हत्याओं की घटनाओं की जांच करने और मामला दर्ज करने के लिए एक एसआईटी गठित करने का आग्रह किया गया था। दलील में कहा गया, "राज्य प्रायोजित हिंसा के कारण पश्चिम बंगाल में लोगों के पलायन ने उनके अस्तित्व से संबंधित गंभीर मानवीय मुद्दों को जन्म दिया है, जहां वे संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत निहित अपने मौलिक अधिकारों के उल्लंघन के साथ दयनीय परिस्थितियों में रहने के लिए मजबूर हैं।" यह याचिका मुखर्जी और कुछ अन्य लोगों द्वारा दायर की गई थी, जो 2 मई के बाद राज्य में चुनाव के बाद हो रही हिंसा से पीडि़त होने का दावा करते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

नकवी के इस्तीफे के बाद स्मृति ईरानी बनीं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री, सिंधिया को मिला स्टील मंत्रालयVideo: 'हर घर तिरंगा' के सवाल पर बोले Farooq Abdullah, 'वो अपने घर में रखना', भड़के यूजर्सMalaysia Masters: पीवी सिंधू, साई प्रणीत और परूपल्ली कश्यप पहुंचे दूसरे दौर में, साइना नेहवाल हुई बाहरMaharashtra Politics: शिवसेना के संसदीय दल में भी बगावत? उद्धव ठाकरे ने भावना गवली को चीफ व्हिप के पद से हटायाMukhtar Abbas Naqvi ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, बनेंगे देश के नए उपराष्ट्रपति?काली पोस्टर विवाद में घिरीं महुआ मोइत्रा के समर्थन में आए थरूर, कहा- 'हर हिन्दू जानता है देवी के बारे में'Good News: राजस्थान में अग्निपथ योजना के आवेदन शुरू, सबसे पहले इन जिलों में है भर्तीयूपी को बड़ी सौगात, काशी को 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे पीएम Modi, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का करेंगे लोकार्पण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.