घाटी में एक बार फिर आतंकी हमला, जवानों पर फेंका गया ग्रेनेड, तीन घायल

घाटी में एक बार फिर आतंकी हमला, जवानों पर फेंका गया ग्रेनेड, तीन घायल

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकी हमला हुआ है।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में लगातार आतंकी हमले हो रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में अलग-अलग इलाकों में आतंकियों ने पुलिस जवानों पर हमले किए हैं, इस हमले में कई जवान शहीद हुए। वहीं, एक बार फिर आतंकियों ने सुरक्षबलों को निशाना बनाया है। इस हादसे में तीन जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

आतंकियों ने ग्रेनेड से किया हमला

घटना सोपोर की है। बताया जा रहा है कि जिस वक्त सुरक्षाबलों का एक दल गश्त पर था, उसी दौरान आतंकियों ने जवानों पर ग्रेनेड से हमला कर दिया। इस आतंकी हमले में तीन जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, वारदात को अंजाम देने के बाद आतंकी मौके से फरार हो गए। फिलहाल, सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। वहीं, इस घटना के बाद से इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है।

पुलवामा में भड़की हिंसा

गौरतलब है कि इससे पहले पुलवामा में सुरक्षा बलों के कासो के दौरान हिंसा भड़क उठी। सुरक्षा बलों की कार्रवाई में फैय्याज अहमद नामक एक युवक की मौत के बाद इलाके में तनाव है। अफवाहों पर नियंत्रण के लिए एहतियातन इंटरनेट सेवा ठप कर दी गई है। सेना और सुरक्षा बलों ने एक साथ 20 गांवों में सर्च आपरेशन चलाकर आतंकियों की तलाश शुरू की है। इसके विरोध में स्थानीय युवकों ने सुरक्षा बलों पर पथराव शुरू कर दिया। सुरक्षा बलों ने संयम से काम लेते हुए जवाबी कार्रवाई की। सुरक्षा बलों के व्यापक आपरेशन में सीआरपीएफ, जम्मू कश्मीर पुलिस, स्पेशल आपरेशन ग्रुप और राष्ट्रीय राइफल्स के जवान शामिल हैं। आपरेशन के दौरान ही युवकों ने हिंसक प्रदर्शन शुरू कर दिया।

पुलिस गाड़ी पर हुआ था हमला

आपको बता दें कि हाल ही में शोपियां में आतंकियों ने एक पुलिस गाड़ी को भी निशाना बनाया था, जिसमें चार जवान शहीद हो गए थे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned