लोक आस्था का महापर्व छठ उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ संपन्न, लोगों ने सभी के लिए की मंगल कामना

 

  • देशभर में उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ छठ पूजा समाप्त।
  • कोरोना संकट के बीच भक्तों ने की सभी के कल्याण की कामना।

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण महामारी के बीच लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ शनिवार सुबह उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हो गया। सुबह 6 बजकर 49 मिनट पर सूर्य निकलने के साथ देशभर में छठी मैया के भक्तों ने भगवान सूर्य को सुबह का अर्घ्य दिया। इसी के साथ लोक आस्था का महापर्व समाप्त हो गया।

दिल्ली और मुंबई सहित कई शहरों में प्रतिबंध के चलते लोगों ने घर की छत पर ही सूर्य को अर्घ्य दिया। वहीं पटना, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, मेरठ, गाजियाबद, चंडीगढ़ व अन्य शहरों में छठ घाटों पर सूर्य को अर्घ्य दिया। इस बीच लोगों में कोरोना के खौफ भी दिखा। दिल्ली-एनसीआर में लोगों 6 बजकर 49 मिनट पर उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। इस बीच छठी मैया के घाटों पर रात भजन-कीर्तन का दौर चलता रहा। दिल्ली और मुंबई में लोगों ने सरकारी आदेशों का पूरी तरह से पालन किया। कोरोना महामारी को देखते हुए कोविद-19 प्रोटोकॉल का भी पालन किया। इससे पहले लोक आस्था के महापर्व छठ के तीसरे दिन शुक्रवार शाम 5 बजे के बाद दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे देश में ढलते सूर्य को अर्घ्य दिया गया।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned