स्कूलों को खोलने की जिद के बाद अब चर्च-मस्जिदों को खोलने पर अड़े ट्रंप

अमरीका में कोरोना संक्रमितों और मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। अब तक 97,600 से अधिक लोगों के जान जा चुकी है। इसके बावजूद राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप लगातार वैज्ञानिकों की सलाह की अनदेखी कर रहे हैं। स्कूलों को खोलने की जिद के बाद अब राज्यों को चर्च, मस्जिद आदि प्रार्थनाघरों को खोलने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि ये जरूरी सेवाओं में आते हैं।

वाशिंगटन. कोरोना के चलते अमरीका में सभी प्रार्थनाघरों को बंद कर दिया था। वाइट हाउस में ट्रंप ने कहा कि आज मैं प्रार्थनाघरों, चर्च, मस्जिदों को जरूरी स्थानों की श्रेणी में रख रहा हूं क्योंकि ये जरूरी सेवा प्रदान करते हैं। मेरे निर्देश पर सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) अलग-अलग समुदायों के लिए गाइडलाइन जारी कर रहा है। उन्होंने राज्यों के गवर्नरों से कहा कि अमरीका में प्रार्थनाओं की जरूरत है। इसलिए इन्हें खोलने का वक्त आ गया है।

बात नहीं मानने पर सहायता राशि में कटौती!
इससे पहले उन्होंने आदेश दिए थे कि लॉकडाउन में ढील का जिम्मा गवर्नर के हाथों में होगा। इसमें वे दखल नहीं देंगे। ट्रंप पहले ही स्कूल खोलने की जिद को लेकर राज्यों के गवर्नरों को चिठ्ठियां लिख चुके हैं। ट्रंप अपनी बात मनवाने को लेकर प्रांतों को मिलने वाली सहायता राशि में कटौती कर सकते हैं। हालांकि ट्रंप के फैसलों के खिलाफ गवर्नर कोर्ट जा सकते हैं।

Corona virus Donald Trump
Ramesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned