Donald Trump के प्रस्ताव को विपक्ष ने किया खारिज, 600 डॉलर बेरोजगारी भत्ते को आगे बढ़ाने को कहा था

Highlights

  • डेमोक्रेटिक (Democratic) नेताओं का कहना है कि सरकार को व्यापाक विधेयक बनाने की आवश्यकता है।
  • इससे वैश्विक महामारी (Coronavirus) के दौर में गरीबों की मदद तथा स्कूलों एवं कॉलेजों का वित्त पोषण हो सकेगा।

वाशिंगटन। कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के दौरान अर्थव्यवस्था को सुचारू रखने तथा बेरोजगार परिवारों के भरणपोषण में मदद देने के लिए 600 डॉलर के बेरोजगारी (Unemployment) भत्ते को वाइट हाउस (White House) ने एक हफ्ते के विस्तार का प्रस्ताव दिया।

डेमोक्रेटिक नेताओं ने इसे खारिज कर कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की टीम इस संकट की गहराई को समझ नहीं पाई है। नेताओं का कहना है कि सरकार कोव्यापाक विधेयक बनाने की आवश्यकता है। इससे बड़ी आबादी को फायदा मिल सकेगा। डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic) इस विधेयक(Bill) से स्थानीय सरकारों को भी फायदा होगा। ये ऐसा विधेयक होगा जो स्थानीय सरकारों को सहायता देने के साथ वैश्विक महामारी के दौर में गरीबों की मदद तथा स्कूलों एवं कॉलेजों का वित्त पोषण कर सकेगा।

गौरतलब है कि बेरोजगारी आर्थिक सहायता की अवधि 31 जुलाई को खत्म होने वाली थी। सीनेट डेमोक्रेट सदस्य चक शुमेर का कहना है कि रिपब्लिकन कुछ मामूली-सा करने की बात कर रहे हैं, लेकिन इससे समस्या का हल नहीं होने वाला है। प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी के अनुसार एक विधेयक आना चाहिए , जिससे सभी का भला हो सके।

बीते दिनों ट्रंप ने वाइट हाउस में कहा था कि बेरोजगारी सहायता में वे अस्थायी विस्तार चाहते हैं। इससे वैश्विक महामारी में बेरोजगार हो चुके अमरीकियों को आवश्यक मदद मिल सकेगी। कैपिटोल में दो घंटे तक चली एक बैठक में ट्रंप की टीम ने इस सहायता के लिए एक हफ्ते का विस्तार का प्रस्ताव दिया है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned