America ने 59 Chinese Apps को बैन करने के भारत के फैसले का किया स्वागत, Pompeo बोले- राष्ट्रीय सुरक्षा को मिलेगा बढ़ावा

HIGHLIGHTS

  • अमरीका ( America ) ने 59 चीनी ऐप्स को बैन ( Chinese Apps Ban In India ) करने के भारत के इस फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि भारत का ये कदम राष्ट्रीय सुरक्षा और अखंडता ( National security and integrity ) को बढ़ावा देगा।
  • 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगाने के फैसले को लेकर पोम्पियो ( Mike Pompeo ) ने कहा 'भारत का क्लीन एप दृष्टिकोण भारत की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देगा।'

वाशिंगटन। भारत और चीन ( India China tension ) के बीच सीमा विवाद को लेकर तनावपूर्ण माहौल है। दोनों देशों में बढ़ते टकराव के बीच भारत ने सोमवार को लोकप्रिय टिकटॉक ( Tik Tok ) और यूसी ब्राउजर समेत 59 चीनी ऐप्स ( Chinese Apps Ban In India ) को बैन कर दिया। अब इसको लेकर अमरीका की ओर से बड़ा बयान सामने आया है।

अमरीका ने भारत के इस फैसले का स्वागत ( America welcomes India's Decision ) किया है और कहा है कि भारत का ये कदम राष्ट्रीय सुरक्षा और अखंडता ( National security and integrity ) को बढ़ावा देगा। अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि चीनी ऐप्स को बैन करने के भारत के फैसले का हम स्वागत करते हैं।

China पर डिजिटल स्‍ट्राइक! जानिए, Tik Tok समेत 59 चीनी Apps पर सरकार ने क्यों लगाया बैन?

59 चीनी ऐप्स पर बैन लगाने के फैसले को लेकर माइक पोम्पियो ( US Secretary of State Mike Pompeo ) ने कहा 'भारत का क्लीन एप दृष्टिकोण भारत की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देगा।'

अमरीका में चीनी ऐप्स बैन करने की उठी मांग

आपको बता दें कि जहां एक और भारत ने 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया, वहीं अब अमरीका में भी चीनी ऐप्स को बैन करने की मांग ( Demand to ban Chinese apps in America ) उठने लगी है। अमरीका के कुछ सांसदों ने इसका समर्थन किया है। अमरीकी सांसद सरकार से अपील कर रहे हैं और ये विचार करने के लिए कह रहे हैं। सांसदों का कहना है कि इस तरह के छोटे-छोटे वीडियो शेयर करने वाले ऐप्स किसी भी देश की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है।

सत्ताधारी रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटर जॉन कॉर्निन ( Republican Senator John Cornyn ) ने द वाशिंगटन पोस्ट में छपी एक खबर को टैग करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा 'खूनी झड़प के बाद भारत ने टिकटॉक और दर्जनों चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया।’

वहीं एक अन्य रिपब्लिकन सांसद रिक क्रोफोर्ड ने कहा कि टिकटॉक को जाना ही चाहिए और इसे तो पहले ही प्रतिबंधित कर देना चाहिए था। बता दें कि पिछले सप्ताह अमरीकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ( US National Security Advisor Robert O Bryan ) ने आरोप लगाया था कि चीनी सरकार टिकटॉक का इस्तेमाल अपने उद्देश्यों के लिए कर रही है।

Chinese Apps BAN: इंस्टॉल होने के बावजूद एक्सेस नहीं कर पाएंगे Tik Tok, स्क्रीन पर दिखेगा ब्लैंक पेज

आपको बता दें कि अमरीकी संसद में कम से कम दो ऐसे विधेयक लंबित हैं, जिनमें संघीय सरकारी अधिकारियों को अपने फोन पर टिकटॉक का इस्तेमाल करने से रोकने के प्रावधान हैं। अब भारत के इस कदम से अमरीका में टिकटॉक समेत एन्य ऐप्स पर प्रतिबंध की मांग जोर पकड़ सकती है।

भारत ने 59 चीनी ऐप्स पर लगाया बैन

आपको बता दें कि सोमवार को भारत ने TikTok, WeChat और Weibo समेत 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए इस तरह के ऐप्स पर बैन लगाया गया है। इन सभी ऐप्स पर समय समय पर आरोप लगते रहे हैं।

हालांकि मंगलवार को TikTok India के प्रमुख निखिल गांधी ने एक बयान जारी करते हुए कहा 'भारत में हमारे उपयोगकर्ताओं की कोई भी जानकारी किसी भी विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं की है, जिसमें चीनी सरकार भी शामिल है।'

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned