scriptCoronavirus Effect 80 percent patients shown symptoms of Brain fog reveals in research | कोरोना से जंग के बीच शोध में नया खुलासा, 80 फीसदी रोगियों में दिखे ब्रेन फॉग के लक्षण | Patrika News

कोरोना से जंग के बीच शोध में नया खुलासा, 80 फीसदी रोगियों में दिखे ब्रेन फॉग के लक्षण

ब्रेन को प्रभावित कर रहा कोरोना, शोध में हुए चौंकाने वाले खुलासे, यादाश्त कमजोर होने के साथ हल्के दौरे पड़ने का भी बढ़ा खतरा

नई दिल्ली

Published: July 10, 2021 01:44:03 pm

नई दिल्ली। कोरोना संकट ( coronavirus In India ) के बीच देश भले ही दूसरी लहर से उबर रहा है, लेकिन अब खतरा बरकरार है। तीसरी लहर की आहट से पहले ही कई नए खतरे लगातार सामने आ रहे हैं। वैज्ञानिक अध्ययनों में चौंकाने वाले नतीजों ने हर किसी की चिंता बढ़ा दी है। कभी नया वेरिएंट तो कभी इन वेरिएंट की वजह से होने वाले साइड इफेक्ट्स।

ताजा शोध में ये बात सामने आई है कि कोरोना की वजह से ब्रेन फॉग खतरा बढ़ गया है। कोविड सीधे दिमाग को प्रभावित कर रहा है। इससे ब्रेन में हल्के दौरे पड़ने का खतरा भी बढ़ा है। दरअसल ये शोध प्रतिष्ठित मैगजीन नेचर में प्रकाशित हुआ है।
685.jpg
यह भी पढ़ेँः पहाड़ों पर बढ़ती भीड़ के बीच सरकारें हुईं सख्त, मसूरी से लेकर मनाली तक जाने से पहले चेक कर लें पाबंदियों की नई लिस्ट

कोरोना संक्रमण के बीच सामने आ रहे नए खतरे लगातार चिंता बढ़ा रहे हैं। प्रतिष्ठित मैगजीन नेचर में प्रकाशित एक शोध रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना मस्तिष्क को भी प्रभावित कर रहा है।
अध्ययन में पाया गया है कि कोरोना की वजह से ब्रेन फाग (स्मृति लोप से जुड़ी बीमारी) यानी बातें, चीजें भूलने की समस्या हो रही है। इसके साथ ही मस्तिष्क की कोशिशओं को रक्त संचार में बाधा हो रही, इससे ब्रेन में हल्के दौरे पड़ने का का खतरा हो सकता है।
80 फीसदी लोगों में दिखे ये लक्षण
येल यूनिवर्सिटी के तंत्रिका विज्ञानी सेरिन स्पुडिच की इस रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना के गंभीर संक्रमण से ठीक हुए 80 फीसदी लोगों में मस्तिष्क रोगों के लक्षण दिखे।
इनमें प्रमुख रूप से यादाश्त कम होना और हल्के दौरों के लक्षण पाए गए हैं। जबकि कई मामलों में यह देखा गया है कि संक्रमण से मस्तिष्क की कोशिकाओं को रक्त का संचार सही तरीके से नहीं हो रहा।
कोशिकाओं में रक्त संचार में बाधा मौत या दौरे का कारण बन सकती है।
687.jpgइस चीज की मिली कमी
रिपोर्ट में ये बी बताया गया कि कोरोना के रोगियों के मस्तिष्क की जांच में सेरेब्रल कारटेक्स से एक ग्रे सामग्री में कमी पाई गई।

यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के अध्ययन के मुताबिक, कोरोना वायरस ब्रेन की एस्ट्रोसाइटस कोशिकाओं को भी क्षति पहुंचा रहा है।
दरअसल ये कोशिकाएं कई तरह के काम करती हैं, लेकिन सबसे ज्यादा इनकी जरूरत ब्रेन के कामकाज को सही तरीके से चलाने में मदद करना है।

इस रिपोर्ट में ब्राजील के एक अध्ययन का जिक्र भी किया गया है। इसमें Covid से मरने वाले 26 लोगों के मस्तिष्क की जांच की गई। इनमें से 5 के ब्रेन में संक्रमण पाया गया। यह देखा गया है कि इन लोगों की 66 फीसदी एस्ट्रोसाइट्स कोशिकाएं संक्रमित हो चुकी थीं।
यह भी पढ़ेँः Video: कोरोना सकंट के बीच डरा देगा ये नजारा

ये होता है ब्रेन फॉग
ब्रेन फॉग एक ऐसी स्थिति है, जिसमें याद करने की क्षमता घटती जाती है। कोरोना के मरीज में थकान के साथ-साथ मानसिक अवसाद के लक्षण भी हो सकते हैं।
यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन के शोधकर्ताओं का दावा है कि कोरोना वायरस की वजह ब्रेन कोशिकाओं को रक्त की आपूर्ति नहीं हो रही,जिससे पेरीसाइट्स कोशिकाएं क्षतिग्रस्त हो रही हैं। जो हल्के दौरों का कारण भी बन सकता है।
बता दें कि शुरुआती अध्ययनों में इस बात से इनकार कर दिया गया था कि कोरोना ब्रेन में प्रवेश करता है। लेकिन नए शोध में इस बात की पुष्टि हुई है कोरोना रोगियों के दिमाग पर असर पड़ रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.