भारत और चिली के बीच द्विपक्षीय वार्ता, तीन समझौता ज्ञापनों पर बनी सहमति

  • चिली दौरे के साथ ही राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की तीन देशों की यात्रा सम्पन्न हुई
  • भारत और चिली के बीच विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग पर बनी सहमति
  • अंतिम दिन राष्ट्रपति ने महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया

सैंटियागो। लैटिन अमरीकी देश चिली के दौरे पर गए राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सोमवार को अपने समकक्ष सेबेस्टियन पिनेरा मुलाकात की और के साथ आपसी हितों के व्यापक मुद्दों पर चर्चा की। दोनों पक्षों ने खनन, संस्कृति और विकलांगता के क्षेत्र में तीन समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। तीन दिन की यात्रा पर चिली पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद तीन देशों के अपने दौरे के अंतिम चरण पर हैं। इसी पूर्व राष्ट्रपति बोलीविया और क्रोएशिया भी गए थे।

तीन समझौता ज्ञापनों पर बनी सहमति

राष्ट्रपति कोविंद ने चिली में प्रेसिडेंशियल पैलेस में गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया। इससे पूर्व राष्ट्रपति कोविंद ने चिली में भारतीय समुदाय को संबोधित किया था। दोनों देशों के राष्ट्रपतियों ने कई वैश्विक मुद्दों पर बातचीत की। इस दौरान कई मुद्दों पर दोनों देशों के बीच सहमति बनी। चिली ने घोषणा की कि वह संयुक्त राज्य अमरीका का वैध वीजा रखने वाले भारतीय नागरिकों को वीजा-मुक्त प्रवेश की अनुमति देगा। चिली के फैसले का स्वागत करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि यह दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक और व्यापारिक संबंधों को बढ़ावा देगा। जम्मू-कश्मीर में पुलवामा आतंकी हमले की कड़ी निंदा के लिए पिनेरा को धन्यवाद देते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि दोनों देशों ने सभी तरह के आतंकवाद को हराने के लिए साथ मिलकर काम करने पर सहमति व्यक्त की है। इसके अलावा भारत और चिली दोनों रक्षा, अंतरिक्ष अनुसंधान और अन्वेषण में अन्य सहयोग के अवसरों का पता लगाने के लिए सहमत हुए।

चिली में राष्ट्रपति का व्यस्त कार्यक्रम

सोमवार को राष्ट्रपति ने चिली में कई कार्यक्रमों में भाग लिया। राष्ट्रपति कोविंद ने 'गांधी फॉर द यंग’ विषय पर चिली विश्वविद्यालय के छात्रों और शिक्षकों को संबोधित किया। विश्वविद्यालय ने राष्ट्रपति को एक रिक्टोरल पदक भी प्रदान किया। राष्ट्रपति कोविंद ने सैंटियागो में भारत-चिली बिजनेस गोलमेज सम्मेलन को भी संबोधित किया। राष्ट्रपति ने भारतीय बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में निवेश करने के लिए चिली के बिजनेस टायकून्स को आमंत्रित किया। उसके बाद राष्ट्रपति भारत के लिए रवाना हो गए। बता दें कि चिली से पहले राष्ट्रपति ने 25 से 30 मार्च तक क्रोएशिया और बोलीविया का दौरा किया।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

Siddharth Priyadarshi Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned