ईरान-अमरीका विवाद: जवाद जरीफ की डोनाल्ड ट्रंप को चेतावनी, हल्के में लेना भारी पड़ेगा

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ ने ईरान के नेताओं पर आरोप लगाया था कि वह ईरान के राजकोष का धन अपनी जेब भरने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं।

नई दिल्ली। ईरान और अमरीका के बीच शब्द युद्ध लगातार जारी है। ट्विटर पर दोनों देशों के शीर्ष नेता एक दूसरे को धमका रहे हैं। जारी ट्विटर युद्ध के बीच अब ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकियों पर पलटवार करते हुए उन्हें सावधान रहने की चेतावनी दी है।

क्या कहा ईरानी विदेश मंत्री ने

ट्रंप की टि्वटर पर ईरान के शीर्ष राज नेताओं को दी गई धमकियों के बाद जावेद जरीफ ने ट्विटर लिखा, 'हमें अप्रभावित समझा और पढ़ा जाए। हम सदियों से यहां है। हमने अपने साम्राज्य सहित कई साम्राज्यों को बनते-बिगड़ते हुए देखा है। हमारे बर्बाद हो चुके साम्राज्य का जीवन काल भी इतना लंबा रहा था जितनी कुछ देशों की उम्र भी नहीं है। हमसे सावधान रहो।’

इमरान खान का बड़ा आरोप: मोदी के कदमों में झुक गए थे नवाज शरीफ

ट्रंप ने क्या कहा था

अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी को चेतवानी देते हुए कहा कि अगर ईरान ने अमरीका को दोबारा धमकी दी तो उसे इसके ऐसे परिणाम भुगतने होंगे जैसा इससे पहले शायद ही कभी किसी ने भुगता होगा। ट्रंप ने रूहानी पर यह तल्ख टिप्पणी उनके धमकी भरे बयानों के बाद किया था। इससे पहले रूहानी ने कहा था कि ईरान के दुश्मनों को अवश्य यह समझना चाहिए कि ईरान के साथ युद्ध सबसे घातक युद्ध होगा। इसे मदर आफ आल वार्स समझा जाएगा। ईरान के साथ शांति मदर आफ आल पीस होगी।

क्या कहा था ईरान के राष्ट्रपति ने

रूहानी ने ट्रंप के लिए ट्वीट करते हुए कहा था कि 'शेर की पूंछ से मत खेलो, नहीं तो हमेशा के लिए बहुत पछताना पड़ेगा।' इसके जवाब में ट्रंप ने रविवार देर रात ईरान के राष्ट्रपति रूहानी को संबोधित करते हुए ट्वीट किया, "अमरीका को अब कभी दोबारा धमकाना नहीं, नहीं तो आपको ऐसे परिणाम भुगतने होंगे, जो इतिहास में कभी किसी ने शायद ही कभी भुगता होगा। हम अब वह देश नहीं रहे जो आपके हिंसा और मौत के घृणित शब्दों को सुन ले। इसलिए सचेत रहें।"

पाकिस्तान चुनाव 2018: कौन कितने पानी में ? कुछ ऐसा है वर्तमान चुनावी परिदृश्य

आतंकवाद को शह दे रहे हैं ईरान के नेता

बता दें कि अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ ने ईरान के नेताओं पर आरोप लगाया था कि वह ईरान के राजकोष का धन अपनी जेब भरने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने नेताओं पर ईरानी कोष का इस्तेमाल करने और आम ईरानियों के पैसे का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए करने का आरोप लगाया था।

Donald Trump
Show More
Siddharth Priyadarshi Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned