Nepal ने नहीं उठाया कालापानी, लिपुलेक, लिम्पियाधुरा‌ का मामला, PM ओली ने कहा बातचीत से सुलझाएंगे विवाद

  • नेपाल ने द्विपक्षीय वार्ता के दौरान विवादित कालापानी, लिपुलेक और लिम्पियाधुरा मामले को नहीं उठाया
  • भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला के दो दिनों के नेपाल भ्रमण के दौरान कई उच्च स्तरीय मुलाकात

काठमांडू। नेपाल ने भारत ( India-Nepal Relation ) के साथ संबंध सुधारने के अपने प्रयास को निरन्तरता देते हुए द्विपक्षीय वार्ता ( Bilateral talks ) के दौरान विवादित कालापानी, लिपुलेक और लिम्पियाधुरा मामले को नहीं उठाया। भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला के दो दिनों के नेपाल भ्रमण के दौरान हुए कई उच्च स्तरीय मुलाकात के दौरान नेपाल के तरफ से किसी भी मुलाकात में विवादित नक्शे और विवादित क्षेत्र को लेकर कोई भी जिक्र नहीं किया है। एक साल की लम्बी संवादहीनतो को तोडते हुए भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला शुक्रवार को दो दिनों के नेपाल दौरे पर काठमांडू पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने नेपाल के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री सहित विपक्षी दल के नेताओं से भी मुलाकात की थी।

West Bengal: ममता बनर्जी को झटका, सुवेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा

नेपाल-भारत के बीच के रिश्ते की तुलना किसी और देश के साथ नहीं

नेपाल की राष्ट्रपति विद्या भंडारी से शिष्टाचार मुलाकात करने गए भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला को उन्होंने जल्द से जल्द दोनों देशों के बीच के रिश्ते को पुन: पुराने लय में वापस लाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका खेलने का आग्रह किया। दोनों देशों के बीच रहे विशिष्ट प्रकार के संबंध की चर्चा करते हुए नेपाल की राष्ट्रपति ने कहा कि आपसी संवाद और उच्च स्तरीय भ्रमण के क्रम को अब किसी भी कारण से ना रोका जाए और इसको लगातार जारी रखा जाए। राष्ट्रपति भंडारी ने कहा कि नेपाल और भारत के बीच के रिश्ते की तुलना किसी और देश के साथ नहीं हो सकती है।

भारत नेपाल से हर विषय पर बातचीत के लिए हमेशा तैयार

नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली से मुलाकात के दौरान भारतीय विदेश सचिव श्रृंगला ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संदेश दिया। मोदी का संदेश ओली को देते हुए विदेश सचिव ने बताया कि भारत नेपाल से हर विषय पर बातचीत के लिए हमेशा तैयार है और नेपाल के विकास में अपना सम्पूर्ण योगदान देने के लिए भी ‌हमेशा ही तत्पर है। जवाब में ओली ने भी भारतीय प्रधानमंत्री तक अपना संदेश पहुंचाने की बात कहते हुए कहा कि नेपाल भी वार्ता और संवाद के माध्यम से दोनों देशों के बीच में रहे समस्या का हल चाहता है। ओली ने कहा कि विगत की कुछ बातों को नजरअंदाज करते हुए नेपाल भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अपनी विकास की यात्रा को आगे बढाना चाहता है।

Farmer Protest को Rahul Gandhi का समर्थन- केंद्र को वापस लेने होंगे काले कानून

संवाद के माध्यम से ही सीमा सहित सभी मुद्दों को हल

प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार राजन भट्टराई ने नेपाल की सरकारी समाचार एजेंसी को इस मुलाकात के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ओली ने कहा कि दोनों देशों की सरकार को विरासत में जो साझा समस्या मिली है उसको आपसी संवाद के जरिए हल करने की बात ओली ने प्रधानमंत्री मोदी को दिए अपने संदेश में कहा है। उन्होंने यह भी बताया कि नेपाल भारत के साथ किसी भी समय किसी भी परिस्थिति में सिर्फ और सिर्फ वार्ता तथा संवाद के माध्यम से ही सीमा सहित सभी मुद्दों को हल करना चाहता है।

कोरोना वैक्सीन से नेपाली जनता को भी उपलब्ध कराया जाएगा

भारतीय विदेश सचिव ने नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञवाली से मुलाकात के समय कोरोना से लडने के लिए दो हजार रेमडेसेबीर दवाई उपलब्ध करवाई है। साथ ही विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि भारत में बन रहे कोरोना वैक्सीन से नेपाली जनता को भी जल्द से जल्द उपलब्ध कराया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा भारत में बनाए गए वैक्सीन को लेकर रही सोच के बारे बताते हुए विदेश सचिव ने कहा कि मोदी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि भारत में बनने वाली वैक्सीन सिर्फ भारतीय के लिए नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिए है।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned