मालदीव में सियासी घमासान जारी, दो भारतीय मूल के पत्रकार गिरफ्तार

mohit1 sharma

Publish: Feb, 09 2018 10:59:40 (IST)

Miscellenous World
मालदीव में सियासी घमासान जारी, दो भारतीय मूल के पत्रकार गिरफ्तार

मालदीव में चल रही सियासी उठापटक के बीच दो भारतीय पत्रकारों की गिरफ्तारी का मामला सामने आया है।

नई दिल्ली। मालदीव में चल रही सियासी उठापटक के बीच दो भारतीय पत्रकारों की गिरफ्तारी का मामला सामने आया है। दोनों ही पत्रकार एएफपी नाम की न्यूज एजेंसी से जुड़े हैं। बताया जा रहा है कि दोनों ही पत्रकारों को मालदीव के नेशनल सिक्योरिटी लॉ के अंतर्गत गिरफ्तार किया गया है।

प्रेस की आजादी खतरे में

मालदीव में गिरफ्तार किए गए पत्रकार अमृतसर निवासी मनी शर्मा ओर लंदन में रहने वाले भारतीय मूल के आतिश रावजी पटेल हैं। वहीं मालदीव के सांसद अली जहीर का कहना है कि अब यह प्रेस की आजादी खतरे में हैं। उन्होंने कहा कि इससे पहले यहां एक टीवी चैनल पर भी प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। उन्होंने दोनों पत्रकारों की जल्द रिहाई की मांग की है। उधर, मालदीव में चल रहे सियासी संकट पर भारत के साथ अपने रिश्तों को लेकर चीन ने गंभीरता दिखाई है। चीन ने कहा कि मालदीव को लेकर भारत और उसके बीच कोई तनाव का मुद्दा नहीं बनेगा। चीन की ओर से आए एक अधिकारिक बयान में कहा गया है कि वह नहीं चाहता कि मालदीव संकट को लेकर उसके और भारत के बीच किसी तरह का तनाव पैदा हो। बयान में यह भी कहा गया कि वह इस मसले को लेकर लगातार भारतीय अधिकारियों के संपर्क में है।

चीन के विदेश मंत्री से की मुलाकात

मालदीव के राष्ट्रपति के एक प्रतिनिधि ने चीन के विदेश मंत्री से मुलाकात कर मालदीव में जारी गंभीर राजनीतिक संकट के संबंध में सहयोग मांगा। चीनी विदेश मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने मालदीव के वित्तमंत्री मोहमद सईद से गुरुवार को मुलाकात की और उन्हें बताया कि द्वीपीय देश में कानून के अनुरूप स्थिति सामान्य हो जानी चाहिए। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, वांग ने कहा कि मालदीव सरकार और अन्य पक्षों को बातचीत कर मतभेद दूर करने चाहिए। उन्होंने कहा कि चीन दूसरे देशों के आंतरिक मामलों में दखल नहीं देने के सिद्धांत को मानता है।

1
Ad Block is Banned