Lockdown: छह दिन में रेलवे और रोडवेज को छह करोड़ से अधिक का नुकसान

Highlights

  • कोरोना के चलते 14 अप्रैल तक रेल-बस का संचालन है बंद
  • रोजाना हजारों यात्री करते हैं यात्रा
  • अब तक कुल छह करोड़ से अधिक का नुकसान हो चुका है
  • दिन बढ़ने के साथ बढ़ता जा रहा है नुकसान

By: jai prakash

Published: 28 Mar 2020, 02:57 PM IST

मुरादाबाद: कोरोना महामारी से निपटने के लिए 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन किया गया है। जिसका विपरीत असर भी देखने को मिल रहा है। ट्रेनों से लेकर रोडवेज बस सभी बंद कर दी गयीं हैं। सिर्फ आपात स्थिति और आवश्यक पूर्ति के लिए ही संचालन जारी है। इन छह दिनों में रेलवे और रोडवेज को छह करोड़ से अधिक का राजस्व नुक्सान हुआ है। जैसे-जैसे लॉकडाउन बढ़ेगा वैसे-वैसे नुकसान भी बढ़ना तय है।

Lockdown: किरायेदारों को बड़ी राहत, 1 महीने तक किराया नहीं मांग सकेंगे मकान मालिक, होगी 1 साल की जेल

प्रतिदिन 85 लाख का नुकसान

यहां बता दें कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू था। लेकिन एक दिन पहले ही 21 मार्च की रात से ही संचालन बंद कर दिया गया था। इसके बाद से देश भर में लॉक डाउन है। ट्रेनें और बसों को जहां तहां रोक कर उनको सेनेटाइज किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग के मुरादाबाद परिक्षेत्र में करीब सात सौ बसों का संचालन किया जाता है। जिनके जरिये एक दिन में विभाग को यात्री टिकटों के जरिये तकरीबन 85 लाख रुपये मिलते हैं। पिछले छह दिन से बसों का जाम है। इन छह दिनों में विभाग को अब तक पांच करोड़ दस लाख रुपये का नुकसान हो चुका है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन मुरादाबाद पर प्रतिदिन तकरीबन 25 हजार यात्रियों का आवगमन है। इन यात्रियों के रेलवे को चौबीस घंटे में तकरीबन उन्नीस लाख रुपये राजस्व के रूप में प्राप्त होते हैं। ट्रेनें भी पिछले छह दिन से बंद हैं। अब तक रेलवे को एक करोड़ पांच लाख रुपये की हानि हो चुकी है। अभी ये नुकसान और बढ़ेगा।

दिल्ली—यूपी बॉर्डर पर इकट्ठा हो गई हजारों की भीड़, मिल्क वैन में भर गए, देखिए तस्वीरें
19 मरीज निगेटिव
फ़िलहाल जनपद में कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। इसके साथ ही राहत भरी खबर ये है कि 20 आशंकित मरीजों में से 19 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जबकि संक्रमित युवती की हालत में तेजी से सुधार बताया जा रहा है।

Corona virus
Show More
jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned