भाजपा सरकार में भी रिश्वतखोरी पर नहीं लगी लगाम, घूस लेते सिपाहियों का वीडियो वायरल

Iftekhar Ahmed

Publish: Sep, 17 2017 05:07:05 (IST)

Sambhal, Uttar Pradesh, India
भाजपा सरकार में भी रिश्वतखोरी पर नहीं लगी लगाम, घूस लेते सिपाहियों का वीडियो वायरल

प्रदेश में जिस खाकी वर्दीधारी पर कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने की जिम्मेदारी है, वही भारष्टाचार में आकंठ डूबे हुए हैं।

संभल. भ्रष्टाचार और क्राईम को मुद्दा बनाकर सत्ता में आई उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार में ये दोनों ही मामलों में तेजी से वृध्दि हुई है। प्रदेश में जिस खाकीवर्दीधारी पर कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने की जिम्मेदारी है, वही भारष्टाचार में आकंठ डूबे हुए हैं। संभल जनपद के चंदौसी में सीओ ऑफिस के सामने टेम्पो चालकों से रिश्वत लेते दो सिपाहियों का वीडियो वायरल हो रहा है। मामला एसपी के पास पहुंचने पर दोनों सिपाहियों की पहचान प्रमोद और जितेन्द्र के रूप में हुई है। फ़िलहाल, दोनों को ही निलंबित कर दिया गया है।

दोनों सिपाहियों की वसूली करते हुए वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ था। इसकी सूचना मिलने के बाद एसपी ने वीडियो के आधार पर दोनों सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। वायरल वीडियो में बाइक चला रहे सिपाही ने डग्गामार वाहन रुकवाया तथा साइड से लगाने को कहा। डग्गामार वाहन का चालक उतरकर सिपाहियों के पास आया तथा वाहन छोड़ने के लिए अपील करने लगा। बाइक चला रहे सिपाही ने चालक से बोला कि बाइक बिना पेट्रोल के नहीं चलती है। इसका खर्चा निकालना पड़ता है। इस पर चालक ने अपनी जेब से पांच सौ रुपए निकाले तथा सिपाहियों को देने लगा। पीछे बैठे सिपाही ने रुपए ले लिए। वीडियो वायरल हुआ तो जानकारी मिलते ही एसपी ने आनन-फानन में दोनों आरोपी सिपाहियों को स्सपेंड कर दिया।

एएसपी पंकज पाण्डेय ने बताया कि वीडियो चन्दौसी कोतवाली में तैनात सिपाही प्रमोद और जितेंद्र की है। दोनों को एसपी के आदेश पर निलंबित कर दिया गया है। गौरतलब है कि सिपाहियों के इस तरह रिश्वत लेते वीडियो वायरल होने से संभल पुलिस की ख़ासा किरकरी हुई है। उसी से बचने के लिए ही सिपाहियों को निलंबित किया गया है, लेकिन सार्वजनिक रूप से पुलिस का अक्सर यही चेहरा लोगों को दिखाई देता है। इसलिए लाख कोशिशों के बाद भी पुलिस की छवि बेहतर नहीं हो पा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned