वेस्ट यूपी के इस जिले में अब पैदा होंगी गन्ने की नयी प्रजातियां

वेस्ट यूपी के इस जिले में अब पैदा होंगी गन्ने की नयी प्रजातियां

Jai Prakash | Updated: 23 Aug 2019, 03:30:55 PM (IST) Moradabad, Moradabad, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • बिलारी में बनेगा शोध केंद्र
  • आसपास के किसानों को मिलेगा लाभ
  • काफी समय से की जा रही केंद्र की मांग

मुरादाबाद: वेस्ट यूपी के लिए मीठे की खेती यानि गन्ने के लिए माना जाता है। यहां पर काफी समय से गन्ना शोध संस्थान की मांग चल रही थी। जिसे मंजूर कर लिया गया है। ये अब मुरादाबाद में बनेगा, जहां से गन्ने की नयी प्रजातियां पैदा होंगी और यहां के किसानों को लाभ मिलेगा। गन्ना शोध संस्थान के लिए 20 एकड़ जमीन चाहिए जिसके लिए प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है। जिसे जल्द मंजूर होने की उम्मीद है।

इंजीनियर ने व्हाट्सएप ग्रुप पर डाली अश्लील वीडियो, इसके बाद जो हुआ...

यहां बनेगा केंद्र

गन्ना उपयुक्त अमर सिंह ने बताया कि बिलारी तहसील में जमीन चिन्हित की गयी है। कुछ जमीन जिला प्रशासन से भी मिल जायेगी। गन्ना विभाग द्वारा प्रस्ताव भेजा जा चुका है। यहां शोध केंद्र बनने से मुरादाबाद मंडल के साथ ही बरेली और अलीगढ़ मंडल के किसानों को लाभ मिलेगा। ये संस्थान वाराणसी से मुरादाबाद ट्रान्सफर हो चुका है।

इस मुस्लिम शिक्षिका ने बदल दी सरकारी स्‍कूल की तस्‍वीर, मुख्‍यमंत्री योगी भी करते हैं तारीफ

 

मिल गयी है स्वीकृति

यहां बता दें कि गन्ना मंत्री सुरेश राणा की स्वीकृति के बाद मुरादाबाद जिले में गन्ना शोध संस्थान केंद्र स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू की गई। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक बिलारी क्षेत्र के गांव पीपली में राजस्व विभाग की बीस एक एकड़ जमीन पर शोध संस्थान केंद्र बनाया जाएगा। राजस्व विभाग की ओर से ये जमीन गन्ना विकास परिषद को जमीन हस्तांतरित करने के लिए शासन को पत्र लिखा जा चुका है। जमीन उपलब्ध होने के साथ ही शोध संस्थान केंद्र बनाने की प्रकिया को पूरा किया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned