खुशखबरी: अब लैपटॉप और प्रोजेक्टर से पढ़ेंगे सरकारी स्कूलों में बच्चे, 260 स्कूल चयनित

खुशखबरी: अब लैपटॉप और प्रोजेक्टर से पढ़ेंगे सरकारी स्कूलों में बच्चे, 260 स्कूल चयनित

Jai Prakash | Updated: 16 Aug 2019, 10:47:05 AM (IST) Moradabad, Moradabad, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • पहले चरण में जनपद के 260 स्कूल चयनित
  • केंद्र सरकार जारी करेगी बजट
  • लैपटॉप और प्रोजेक्टर के माध्यम से होगी पढ़ाई

मुरादाबाद: सूबे के सरकारी प्राथमिक स्कूलों की दशा सुधारने के लिए योगी सरकार लगातार कोशिश कर रही है। हर जिले में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल चयन के बाद अब बच्चों को स्मार्ट क्लास में पढ़ाने की भी तैयारी शुरू की गयी है। जिसमें पहले चरण में जिले 260 स्कूल चयनित किये गए हैं। प्रधनमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत इन स्कूलों को आधुनिक किया जा रहा है। जिसमें बच्चे स्मार्ट प्रोजेक्टर और लैपटॉप के माध्यम से पढ़ाई करेंगे। जल्द ही बजट भी जारी हो जाएगा।

Motivational Story : बेटियां किसी से कम नहीं, सहारनपुर की इस बेटी ने पेश की नजीर, कल तक जाे कर रहे थे एतराज आज वहीं दे रहे बधाईयां

केंद्र सरकार देगी बजट

बीएसए योगेन्द्र कुमार ने बताया कि अभी मात्र 93 कक्षाएं ही स्मार्ट रूप से चल रहीं हैं। अब इस योजना में केंद्र सरकार से बजट मिलेगा। जिससे बच्चों को लैपटॉप और प्रोजेक्टर के माध्यम से पढ़ाई करवाई जाएगी।

BIG NEWS: आजम खान के खिलाफ आज होगी बड़ी कार्रवाई, ढहाई जाएगी उनके रिजॉर्ट की दीवार

राज्य सरकार मिल गयी स्वीकृति

यहां बता दें कि जिले में अभी तक 93 स्कूलों में स्मार्ट क्लास हैं। इनमें प्राइमरी व जूनियर हाई स्कूल शामिल हैं, लेकिन इनकी संख्या बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से प्रस्ताव मांगे गए हैं। प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत जिले के 260 स्कूलों को चयनित किया गया है। इन स्कूलों में स्मार्ट क्लास बनाए जाने का प्रस्ताव है, जिसे केंद्र सरकार को भेजा जा चुका है। राज्य सरकार से इसे स्वीकृति मिल चुकी है, अब केंद्र से स्वीकृति मिलते ही इन कक्षाओं पर काम शुरू कर दिया जाएगा।

डीपीएस स्कूल की महिला कर्मचारी का मिला शव, हत्या की आंशका

इतना होगा खर्च

इस योजना में प्रत्येक कक्षा को स्मार्ट बनाने के लिए दो लाख 54 हजार रुपये खर्च किए जाएंगे। इसमें कक्षा के निर्माण के साथ ही उसके लिए लैपटॉप, प्रोजेक्टर व स्मार्ट बोर्ड भी खरीदा जाएगा। प्रस्ताव के तहत सभी ब्लाक के स्कूलों का चयन किया गया है, इसमें 73 प्राइमरी व 187 जूनियर हाई स्कूल शामिल हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned