ग्रामीणों ने तेंदुए को किया अधमरा, वन विभाग ने इलाज के लिए बरेली भेजा

ठाकुरद्वारा क्षेत्र में किसानों ने खेत में एक तेंदुए को पकड़ लिया। तेंदुए को रस्सियों से बांधकर किसानों ने पुलिस और वन विभाग को मामले की जानकारी दी।

By: jai prakash

Published: 25 Apr 2018, 01:56 PM IST

मुरादाबाद: जनपद के ठाकुरद्वारा थाना क्षेत्र में आज किसानों ने खेत में टहल रहे एक तेंदुए को पकड़ लिया। तेंदुए को रस्सियों से बांधकर किसानों ने पुलिस और वन विभाग को मामले की जानकारी दी। जिसके बाद वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचकर तेंदुए को कब्जे में लेने की कोशिश कर रहे हैं। शुरुआती जानकारी के मुताबिक पकड़ा गया तेंदुआ काफी कमजोर और बीमार बताया जा रहा है।

उत्तराखंड के जिम कार्बेट पार्क से सीमा लगे होने के चलते मुरादाबाद जनपद के ठाकुरद्वारा क्षेत्र में अक्सर जंगली जानवर घुस आते हैं। पिछले दिनों ठाकुरद्वारा क्षेत्र में तेंदुए ने एक युवक को अपना शिकार बनाया था। जिसके बाद पूरे क्षेत्र में तेंदुए होने की आशंका के चलते लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया था। आज सुबह पानुवाला गांव में खेत पर काम कर रहे किसानों को तेंदुए की गुर्राहट सुनाई दी जिसके बाद किसानों ने हिम्मत कर तेंदुए को भगाने की कोशिश की। बीमार और कमजोर होने के चलते तेंदुआ भागने में कामयाब नहीं हुआ तो किसानों ने तेंदुए को घेर कर रस्सियों की सहायता से पकड़ लिया और पेड़ से बांध दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने तेंदुए पर काबू पाने के लिए उसे लाठी-डंडो से भी जमकर पीटा।

ग्रामीणों के मुताबिक कल देर रात तेंदुए ने एक पालतू जानवर को शिकार बनाया था। वह विभाग द्वारा खेतों के पास पिंजरा लगाया गया था लेकिन तेंदुआ पिंजरे में नहीं गया। ग्रामीणों द्वारा तेंदुआ पकड़े जाने की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों को तेंदुए के पास से हटाया गया। पुलिस की सूचना के बाद वन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंच गई हैं। पकड़े गए तेंदुए को इलाज के लिए भेजने की तैयारी चल रही हैं वही ग्रामीणों का कहना है कि क्षेत्र में बडी संख्या में तेंदुए घूम रहे है जो लोगों की परेशानी का सबब हैं। वन विभाग पर लाहपरवाही का आरोप लगाते हुए ग्रामीण कहते है कि लगातार सूचना देने के बाद भी वन विभाग के अधिकारी गम्भीरता नहीं दिखते हैं।

वन विभाग की टीम गम्भीर घायल तेंदुए को इलाज के लिए बरेली भेजने की तैयारी कर रही हैं। अधिकारियों के मुताबिक तेंदुआ काफी कमजोर है और बीमार भी नजर आ रहा है। साथ ही ग्रामीणों द्वारा की गई पिटाई से उसकी हालत मरणासन्न हो गई है।

jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned