फास्टैग हुआ अनिवार्य: 10 किमी तक लग गई लंबी-लंबी कतारें, घंटों परेशान हुए लोग

- जाम में फंसे रहे हजारों वाहन, नहीं दिखी पुलिस

By: Ashok Sharma

Updated: 16 Feb 2021, 06:43 PM IST


मुरैना. सोमवार की रात 12 बजे से फास्टैग अनिवार्य होने से छौंदा टोल पर रात से ही जाम लगना शुरू हो गया। दिन भर करीब दस किमी तक जाम लगा रहा। जिन वाहन चालकों ने फास्टैग सुविधा नहीं ली, उनसे डबल चार्ज लिया गया। कार के 70 की जगह 140 रुपए वसूले गए। इसके चलते लंबा जाम लग गया क्योंकि 70 प्रतिशत वाहन ऐसे निकल रहे थे जिन पर फास्टैग सुविधा नहीं थी। उनकी वजह से जाम लग रहा था। मंगलवार को दिनभर लोग जाम का सामना करते रहे।


मुरैना से लेकर जड़ेरुआ तक दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लगी थी। स्थिति यह थी कि दो पहिया वाहनों को भी इस जाम का सामना करना पड़ा। जाम में फंसे वाहनों को घंटों हो गए, इसलिए कुछ गाडिय़ों के चालक तो गाड़ी को बंद करके दूर बैठे नजर आए। सबसे ज्यादा परेशानी आई उन लोगों को आई जिनको ड्यूटी जाना था, लेकिन जाम में फंसकर लेट हो गए। यात्री बस और लोकल के टै्रक्टर ट्रॉली भी घंटों जाम में फंसे रहे। कुछ लोग जाम में बचने के लिए शिकारपुर मार्ग होकर जाने वाले वाहन निकालकर ले गए लेकिन उस मार्ग पर भी जाम लग गया।

 

इसलिए लगा टोल पर जाम

छोंदा टोलटैक्स पर इसलिए जाम लगा कि करुआ मोड़ पर न पुलिस पहुंची और न टोल के गार्ड। अगर वहां मंगलवार सुबह से पुलिस तैनात हो जाती तो जाम नहीं लगता। हुआ यूं कि ग्वालियर से मुरैना की तरफ आने वाले वाहनों की लंबी कतार लग गई। करुआ मोड़ तक वाहन खड़े थे। उधर मुरैना तरफ के वाहन निकल नहीं पा रहे थे इसलिए उल्टी साइड वाला मार्ग खाली पड़ा था, वाहन चालकों ने सोचा यह ठीक है उल्टी साइड से वाहन निकालकर ले चलते हैं लेकिन जब वह टोल के नजदीक पहुंचे तो दोनों तरफ जाम लग गया। स्थिति यह हो गई न तो वाहन निकल पा रहे और न आ पा रहे। जाम जड़ेरुआ तक पहुंच गया और उसकी खबर नूराबाद व बानमोर तक पहुंच गई तो नूराबाद पुलिस का स्टाफ करुआ मोड़ पर पहुंचा और उन्होंने ग्वालियर से आ रहे वाहनों को उल्टी साइड पर जाने से रोका। जिससे मुरैना से ग्वालियर की तरफ जाने वाले वाहन आसानी से निकल सके। वहीं साहलग के चलते प्रशासनिक अधिकारियों ने भी हस्तक्षेप किया तो टोल पर कुछ ढील दी गई। जिसके चलते देर शाम जाम खुल गया लेकिन वाहनों की लंबी कतार फिर भी लगी रही।


दूल्हा भी फंसा, समय पर नहीं हो सकी बारात की चढ़ाई

छोंदा टोलटैक्स पर जाम में दूल्हा भी फंस गया। जिसकी वजह से बारात की चढ़ाई समय पर नहीं हो सकी। सबलगढ़ से बॉबी की बारात ग्वालियर जा रही थी। मंगलवार को दोपहर दो बजे से बारात की चढ़ाई का मुहूर्त था लेकिन वह समय तो टोल पर ही निकल गया। तब कहीं दूसरा मुहुर्त दिखवाकर शाम पांच बजे से चढ़ाई हो सकी।


डबल चार्ज दिया फिर भी घंटों फंसे रहे जाम में वाहन

ऐसे दर्जनों वाहन थे जिन पर फास्टैग नहीं था उनको डबल चार्ज देना पड़ा। उसके बाद भी घंटों जाम में फंसा रहना पड़ा। आगरा निवासी संजय सिंह ने बताया कि हमको जानकारी नहीं थी कि आज से फास्टैग अनिवार्य हो गया है। हम ग्वालियर जा रहे थे यहां डबल चार्ज ले लिया उसके बाद भी हमको दो घंटे हो गए, जाम में ही फंसे हैं।


- सरकार का निर्णय है, उसमें हम कुछ नहीं कर सकते। रात से ही फास्टैग अनिवार्य कर दिया था। जिनके पास फास्टैग नहीं था, उनका डबल पैसा काटा गया है। इसके चलते तीन बजे के बाद कुछ ढील दे दी गई हालांकि जाम तो नॉर्मल हो गया है।

एस एन बरुआ, जनरल मैंनेजर, छोंदा टोलटैक्स

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned