24.50 लाख खर्च फिर भी रिस रहा ओवरहेड वाटर टैंक

- साढ़े सात साल पूर्व बना था वाटर टैंक
- पिलरों में आई दरार, लोगों को डर, कहीं गिर न पड़े स्ट्रक्चर

By: Ashok Sharma

Published: 01 Mar 2021, 05:22 PM IST

मुरैना. जौरा नगर परिषद ने शहर के तीन वार्र्डो में जलापूर्ति के लिए वार्ड १३ में २४.५० लाख की लागत से ओवरहेड वाटर टैंक का निर्माण साढ़े सात साल पूर्व करवाया था, उसी समय से इस टैंक से पानी रिस रहा है। जिन पिलर्स पर यह टैंक खड़ा है, वह दरार दे चुके हंै। ऐसे में आसपास रहने वाले लोगों को डर है कि कहीं पानी की टंकी गिर न पड़े।
पुराना जौरा क्षेत्र 75 हजार लिटर पानी स्टोर की क्षमता वाले टैंक का निर्माण किया जा रहा था, तभी कुछ लोगों ने इसकी गुणवत्ता पर सवाल उठाये थे, लेकिन नगर परिषद ने तत्समय इस तथ्य को अनदेखा कर दिया था। अब पानी के टैंक से जल रिसाव शुरू होने के बाद एक बार फिर निर्माण कार्य की गुणवत्ता संदेह के दायरे में आ गई है। हालांकि नगर परिषद ने इस मामले की पड़ताल की जरूरत महसूस नहीं की है। टंकी से पानी का रिसाव तथा पिलरों में आई दरार को लेकर यहां आसपास बने घरों में रहने वाले लोग चिंतित हैं। इस टैंक से वार्ड करीब ११ की करीब एक हजार, वार्ड १३ में करीब दो हजार और वार्ड १४ में करीब दो हजार लोगों की बस्ती में पानी की सप्लाई की जा रही है।
शिकायत कर चुके हैं रहवासी ...........
ओवरहेड वाटर टैंक से पानी का रिसाव होने तथा इसके पिलर्स में दरार आने के संबंध में लोग नगर परिषद को आवेदन भी दे चुके हैं। वार्ड क्रमांक 13 के देशराज, भोलू, रोहित, हरीश आदि ने शिकाययत कर टंकी के गिरने की आशंका जता चुके हैं। उन्होंने टंकी के आसपास रहने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाए जाने की मांग नगर परिषद के समक्ष रखी, लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
नहीं हुई टैंक की सफाई, पानी में पड़ रहे कीड़े ..........
रहवासियों की शिकायत है कि जब से टंकी का निर्माण हुआ है और पानी की सप्लाई क्षेत्र में शुरू की है तब से आज तक एक बार भी सफाई नहीं कराई गई है। स्थिति यह है कि पानी में कीड़े पड़ रहे हैं। कई बार पाइप लाइन के सहारे लोगों के घरों तक कीड़े पहुंच रहे हैं। नगर परिषद के अधिकारी इस दिशा में ध्यान नहीं दे रहे हैं।
फैक्ट फाइल .........
- ०७ साल पांच माह पूर्व बनी था वाटर टैंक।
- २४.५० लाख की लागत से बना था वाटर टैंक।
- ०३ वार्ड के लोगों को मिल रहा है लाभ।
- ५००० लोगों पर पहुंच रहा है पानी।
- ०४ ओवरहेड वाटर टैंक हैं नगर में।
- ०६ बड़े बोर हैं जौरा नगर में।
- ६००० हैडपंप हैं नगर की बस्तियों में।
- १५ हैडपंप खराब हैं वर्तमान स्थिति में।
कथन
- ओवरहेड टैंक से अगर जल रिसाव हो रहा है तो उसको अधीनस्थों को भेजकर दिखवा लेते हैं।
नीरज शर्मा, प्रशासक, नगर परिषद व एसडीएम, जौरा

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned