भिवंडी मनपा ने कसी ठेकेदारों की नकेल

साफ-सफाई
सार्वजनिक शौचालय को चकाचक बनाने की कसरत शुरू
निरीक्षण के लिए आनेवाली है केंद्रीय टीम

By: Chandra Prakash sain

Published: 18 Dec 2018, 07:23 PM IST

भिवंडी

स्वच्छता अभियान 2019 के लिए भिवंडी मनपा प्रशासन ने कमर कस ली है। मनपा ने सार्वजनिक शौचालयों को साफ-सुथरा बनाने की कसरत शुरू कर दी है। स्वच्छता से जुड़ी केंद्र सरकार की टीम जल्दी ही इन शौचालयों के निरीक्षण के लिए आनेवाली है। मनपा ने शौचालय चलानेवाली संस्थाओं को नोटिस जारी किया है। नोटिस में साफ चेतावनी दी गई है कि शौचालय की साफ-सफाई के मामले में कहीं भी लापरवाही पाई गई तो संबंधित ठेकेदार का अनुबंध खत्म कर दिया जाएगा। साथ ही मनपा अधिनियम, बांबे पुलिस एक्ट आई आईपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। उल्लेखनीय है कि पिछले माह ही मनपा आयुक्त मनोहर हिरे के निर्देश पर गैबीनगर के पीरानीपाड़ा स्थित सार्वजनिक शौचालय के ठेकेदार का ठेका रद्द कर दिया गया था। गैबीनगर सार्वजनिक शौचालय के आसपास गंदगी, दुर्दशा और दुव्र्यवस्था को देखकर आयुक्त हिरे ने सख्त कदम उठाया था।


ठेके पर चल रहे
406 शौचालय


मनपा रिकॉर्ड के मुताबिक लगभग 10 लाख की जनसंख्या वाले भिवंडी शहर में 216 शौचालय एमएमआरडीए ने बनवाए हैं। 62 पब्लिक टॉयलेट बीओटी आधार पर बनाए गए हैं। 105 शौचालय मनपा ने बनवाए हैं। 23 शौचालय पे एंड यूज आधारित हैं। शहर में कुल मिला कर 406 शौचालय संस्थाओं को ठेके पर दिए गए हैं। सबसे ज्यादा 110 शौचालय प्रभाग समिति दो में हैं जबकि सबसे कम 62 शौचालय प्रभाग समिति पांच
में हैं।

Patrika
Chandra Prakash sain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned