Maha corona: हाजीअली में चादर नहीं , डिब्बेवाले वालों से खाना नहीं ,

विश्वप्रसिद्ध हाजी अली दरगाह (haji ali dargah )और महिम के शाह मकदूम बाबा दरबार(mahim dargah) को बंद कर दिया गया है। इस बीच दुनिया भर में मशहूर डिब्बावालों( dibbawala) ने भी 130 साल के इतिहास में पहली बार अपनी सेवा 31 मार्च तक रोक दी,रेलवे ने ऐसी लोकल ट्रेन ( railway ac local)के पहिये जाम कर दिए।

By: Ramdinesh Yadav

Updated: 19 Mar 2020, 09:42 PM IST

मुंबई। कोरोना वायरस के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार की जंग में जनता का समर्थन मिल रहा है। मुख्यमंत्री की गुरूवार को लोगन से घर में रहने की अपील के बाद विश्वप्रसिद्ध हाजी अली दरगाह और महिम के शाह मकदूम बाबा दरबार को बंद कर दिया गया है। इस बीच दुनिया भर में मशहूर डिब्बावालों ने भी 130 साल के इतिहास में पहली बार अपनी सेवा 31 मार्च तक रोक दी। बीकेसी में देश के सबसे बड़े डायमंड मार्केट में कुछ दिनों के लिए हीरा व्यापारियों ने ताला लगा दिया है।


रेलवे ने ऐसी लोकल ट्रेन के पहिये जाम कर दिए।

कई व्यापारी संगठनों ने दुकाने बंद करने का ऐलान किया है। कोरोना वायरस को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी गुरूवार को बैठक कर हालत की समीक्षा की उन्होंने जनता से भावभीनी अपील की सरकार के साथ आमजन कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सहयोग करें।


डायमंड मार्केट में छुट्टी

मुंबई के डिब्बे वाले घर से टिफिन लेकर विभिन्न कार्यालयों और प्रतिष्ठानों में पहुंचते हैं।आम दिनों में डिब्बे वाले करीब दो लाख लोगों को रोजाना टिफिन में घर का खाना खिलाते हैं।डायमंड व्यापारियों ने भी सरकार के कदम में कदम मिलते हुए देश के सबसे बड़े डायमंड मार्केट में छुट्टी घोषित कर दी।हीरा व्यापारियों को लोगों को घर से ही काम करने के निर्देश दिए गए।


रेलयात्रियों में कमी

रेलवे का मानना है कि सर्द वातावरण में कोरोना तेजी से फैलता है इस लिए सेन्ट्रल और वेस्टर्न रेलवे ने एसी लोकल सेवा स्थगित कर दी. जनता में सजगता और सरकार के सुझाव का असर भी दिखा लोकल ट्रेनों में 20 लाख यात्रियों की संख्या कम हो गई। सरकार का यात्रियों की संख्या अभी और कम करने का प्रयास जारी है। चेम्बूर , घाटकोपर विभिन्न बाजार के संगठनों ने अपनी दुकाने बंद रखने का ऐलान कर दिया। व्यापारियों का कहना है कि कर्मचारी और ग्राहकों की भीड़ के चलते वायरस का खतरा बना रहता है। इस खतरे से निजात पाने के लिए दुकानें नही खोलेंगे .


क्वारेंटाइन होम से रिहाई के बाद झड़पें
विदेशो से आए यात्रियों की क्वारेंटाइन होम से रिहाई के बाद खुले में घूमने पर भेदभाव और झड़प की घटनाएं सामने आई है। सरकार ने ऐसे लोगों के साथ दुर्व्यवहार की निंदा की है। वहीँ उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी है। जनता के भावनाओं को समझते हुए सरकार ने साफ़ कर दिया क्वारेंटाइन होम से रिहाई के बाद हाथ पर मुहर लगे लोगों के खिलाफ खुले में घूमने पर करवाई की जाएगी। पालघर में और दादर के बाद गुरूवार को बोरीवली में भी 6 लोगों को बोरीवली में ट्रेन से उतार दिया गया। ये लोग दिल्ली जाने वाली स्वराज्य एक्सप्रेस से यात्रा कर रहे थे। लोगों को जैसे ही संदिग्ध मरीजों की भनक लगी उग्र हो गए और उन्हें ट्रेन से उतार दिया।

सोसायटी में गप्पबाजी

महामारी के चलते लोग घरों में कैद हैं। स्कूल ,कालेज, कार्यालय, निजी प्रतिष्ठान में कर्मचारियों के नहीं पहुंचने से घरों में शोरशराबा होने लगा है परिवार के लोग घर में ही टीवी देखकर या घरेलु खेल खेलकर टाइम पास कर रहे हैं। शाम होते ही महिलाएं पुरुष और बच्चे अपने फ्लैट से उतरकर बतियाते और खेलते रहते है।

Corona virus
Show More
Ramdinesh Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned