Maharashtra News : पुणे में लॉकडाउन लागू : कोरोना चैन टूटे इसके लिए उपमुख्यमंत्री ने लॉक डाउन के लिए की घोषणा

उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने एक बार फिर से लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की, तथा कहा कि यह अब आवश्यक उपाय है। पवार ने कहा कि लोग अनलॉक का गलत अर्थ निकाल बैठे हैं, ना तो चेहरे पर मास्क लगा रहे हैं ,और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कर रहे हैं। उन्होंने कहा हमारे सामने कोरोना संक्रमण की चैन को तोडऩा एक चुनौती है। उन्होंने प्रशासन को निर्देशित किया कि टेस्टिंग की गति एवं संख्या बढ़ाई जाए।

By: Binod Pandey

Published: 10 Jul 2020, 06:34 PM IST

पुणे. पिंपरी चिंचवड़ क्षेत्र और पुणे में अनवरत रूप से कोरोना रोगियों की संख्या में हो रहे इजाफे को लेकर यहां आए उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने एक बार फिर से लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की, तथा कहा कि यह अब आवश्यक उपाय है। पवार ने कहा कि लोग अनलॉक का गलत अर्थ निकाल बैठे हैं, ना तो चेहरे पर मास्क लगा रहे हैं ,और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कर रहे हैं। उन्होंने कहा हमारे सामने कोरोना संक्रमण की चैन को तोडऩा एक चुनौती है। उन्होंने प्रशासन को निर्देशित किया कि टेस्टिंग की गति एवं संख्या बढ़ाई जाए।

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि कोरोना आपदा के मद्देनजर नगर निगम और अन्य एजेंसियों द्वारा विभिन्न निवारक उपाय किए जा रहे हैं। हालांकि, स्थानीय रूप से माइक्रो-प्लानिंग की जाए तो अधिक प्रभावी ढंग से काम करना संभव होगा। लॉकआउट की छूट के बाद, सिस्टम की जिम्मेदारी बढ़ गई है। इसलिए, यदि उचित दूरी बनाए रखना, मास्क पहनना आदि का पालन नहीं किया जाता है, तो अनुशासन बनाने के लिए कार्रवाई की जानी चाहिए। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि किसी भी मामले में प्रतिबंध क्षेत्रों में सख्त प्रतिबंधों को देखा जाएगा। कोरोना की श्रृंखला को तोडऩा हमारी अगली बड़ी चुनौती है। पवार ने यह भी सुझाव दिया कि उद्योगों और व्यवसायों को अनुमति देने पर ध्यान देकर अधिक देखभाल की जानी चाहिए।

ग्रामीण क्षेत्र में भी पसरा कोरोना

ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए समय पर सावधानी बरतने को उप मुख्यमंत्री पवार ने कहा कि पुणे शहर के साथ-साथ आसपास के गांवों में भी कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। संक्रमण को रोकने के लिए समय पर कड़े कदम उठाए जाने चाहिए और बुखार क्लिनिक में आवश्यक मानव शक्ति और सामग्री उपलब्ध कराई जानी चाहिए। ताकि ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों को जल्द से जल्द इलाज मिल सके। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार कोविद देखभाल केंद्र, समर्पित कोविद अस्पताल में सभी स्वास्थ्य सुविधाएं स्थापित की जानी चाहिए।

घर-घर सर्वे बढाया जाए
मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार अजॉय मेहता ने कहा कि एक ऐसे व्यक्ति की खोज आवश्यक है जो कोरोना संक्रमित रोगी के संपर्क में आए, घर-घर सर्वेक्षण करने के साथ-साथ कोरोना परीक्षण भी बढ़ाए। मेहता ने यह सुनिश्चित करने के लिए एहतियाती कदम उठाने का भी निर्देश दिया कि कोरोना परीक्षण के लिए नमूना लेने के बाद रिपोर्ट प्राप्त करने में कोई देरी न हो।

corona remedies Corona virus corona virus in india
Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned