scriptMaharashtra Politics: Cabinet expansion delayed, CMO Reacts After opposition Attacks Govt | Maharashtra Politics: कैबिनेट विस्तार में देरी और सचिवों के अधिकार को लेकर विपक्ष ने बोला सरकार पर हमला, CMO ने कही ये बात | Patrika News

Maharashtra Politics: कैबिनेट विस्तार में देरी और सचिवों के अधिकार को लेकर विपक्ष ने बोला सरकार पर हमला, CMO ने कही ये बात

महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन हुए एक महीने से अधिक का समय हो चुका है। लेकिन मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हो पाया है। जिसके कारण विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है। साथ ही राज्य के मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री के निर्देश के साथ कैबिनेट और राज्य मंत्रियों का अधिकार विभाग के सचिवों को जारी किया है।

मुंबई

Published: August 07, 2022 09:22:47 am

Maharashtra Politics: महाराष्ट्र में कैबिनेट का विस्तार कब होगा इसे लेकर सस्पेंस बरकरार है। जबकि नई सरकार का गठन हुए एक महीने से अधिक का समय बीत गया है। इन सब के बीच सूबे के मुख्य सचिव ने सीएम एकनाथ शिंदे के निर्देश के साथ कैबिनेट और राज्य मंत्रियों का अधिकार विभाग के सचिवों को देने का अधिकार जारी किया है। इस फैसले पर विपक्ष ने सरकार पर हमला बोला है। जिसके बाद सीएमओ की तरफ से बयान सामने आया है।
Eknath Shinde
कैबिनेट विस्तार में देरी और सचिवों के अधिकार को लेकर विपक्ष ने बोला सरकार पर हमला
ज्ञात हो कि मुख्य सचिव ने जो आदेश जारी किया है उसके अनुसार विभाग के सचिवों को लंबित मामलों पर अंतरिम आदेश देने और अहम मामलों में तुरंत सुनवाई करने का आदेश दिया गया है। सरकार के इस आदेश की एनसीपी नेता अजित पवार ने आलोचना की है। उन्होंने कहा कि इस तरह के आदेश से सूबे में बुरी मिसम कायम होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल में देरी के कारण लोगों में से चुने गए प्रतिनिधि अपने अधिकारों से वंचित हो गए हैं।
यह भी पढ़ें

Maharashtra Politics: बीजेपी विधायक नितेश राणे का बड़ा बयान, बोले- महाराष्ट्र संविधान से चलेगा, शरिया कानूनों से नहीं

कांग्रेस ने भी सरकार के इस फैसले पर निशाना साधा है। उसका कहना है कि सरकार की अगुवाई जान प्रतिनिधियों द्वारा की जानी चाहिए क्योंकि वे लोगों द्वारा चुनकर आए हैं। इसलिए फैसले उनके होने चाहिए न कि सचिवों के। इस मामले पर विपक्ष के हमले के बाद सीएमओ ने सफाई देते हुए एक प्रेस रिलीज जारी किया है।
मुख्यमंत्री दफ्तर की तरफ से कहा गया कि अर्ध-न्यायिक मामलों को छोड़कर सचिव को कोई मंत्री स्तर के पावर नहीं दिए गए हैं। ये सभी शक्तियां पहले की तरह मंत्री, सीएम और मंत्रिपरिषद के पास रहेंगी। सीएमओ ने कहा कि यह कहना गलत है कि फैसले लेने की सारी प्रक्रिया सचिवों के साथ में दी गई है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: पिछले 8 घंटे में उधमपुर में 2 संदिग्ध धमाका, आतंकी साजिश की आशंका, जांच जारीआज से 2 दिन के गुजरात दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी, 29 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं की देंगे सौगातNew CDS: रिटायर्ड ले. जनरल अनिल चौहान को मिली CDS की कमान, अजीत डोभाल के करीबी और आतंकवाद पर लगाम लगाने में हैं माहिरहाई कोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव आज, इन दिग्गजों में होगी टक्करमहंगी हुई मिठाइयां, कीमतों में 5 प्रतिशत की तेजीसरकारी कर्मचारियों का गहलोत सरकार ने बढ़ाया डीए, दिवाली से पहले बड़ा तोहफापद्मश्री राम सुतार बनाएगें अयोध्या में लगाने वाली विश्व की सबसे ऊंची श्री राम की मूर्ति.....जाने कब होगा स्थापितबारिश से जर्जर मकान, ले डूबा चार मासूमों की जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.