Mumbai chaturmas : सत्यम शिवम सुंदरम का सोपान है तपस्या

  • साध्वी अणिमा ने अपने वातसल्य संभृत उद्गारों के साथ तप-अनुमोदना करते हुए कहा तपस्या आत्म साक्षात्कार की दिशा में उठा एक अनूठा कदम है। सत्यं-शिवं-सुंदरम का सोपान है तपस्या। कर्म बंधनों को सिथिल करने का महान अनुष्ठान है तपस्या। चातुर्मास में हजारों-हजारों तपस्या के भव्य रथ पर आरूढ़ होकर कर्म-निर्जरा करते है।

By: Binod Pandey

Published: 23 Aug 2019, 01:41 PM IST

ठाणे. साध्वी अणिमा व साध्वी मंगलप्रज्ञा के सानिध्य में सिद्धि-तप का आयोजन हुआ। साधिका मैत्रीप्रभा एवं कंठी-तप साधिका साध्वी सुधाप्रभा का तप-अनुमोदना का संघ प्रभावक कार्यक्रम ठाणे तेरापंथ भवन के विशाल प्रांगण में आयोजित हुआ। साध्वी अणिमा ने अपने वातसल्य संभृत उद्गारों के साथ तप-अनुमोदना करते हुए कहा तपस्या आत्म साक्षात्कार की दिशा में उठा एक अनूठा कदम है। सत्यं-शिवं-सुंदरम का सोपान है तपस्या। कर्म बंधनों को सिथिल करने का महान अनुष्ठान है तपस्या। चातुर्मास में हजारों-हजारों तपस्या के भव्य रथ पर आरूढ़ होकर कर्म-निर्जरा करते है।

साध्वी मैत्रीप्रभा ने सिद्धि-तप एवं साध्वी सुधाप्रभा ने कंठी-तप क्र संघ की नीवों को मजबूती प्रदान की। साध्वी मैत्रीप्रभा हमारे वर्ग की सबसे छोटी साध्वी है, किन्तु मोती तपस्या क्र बड़ी बन गई है। तप के प्रति इनका बेहद लगाव है। साध्वी अणिमा की साधनामय शक्ति एवं साध्वी मंगलप्रज्ञा के अनिर्वचनीय वात्सल्य और साध्वी कर्णिका साध्वी मैत्रीप्रभा व साध्वी समत्वयशा के सहयोग से हुआ है। साध्वी मैत्रीप्रभा ने कहा महाश्रमण की कृपा से मेरा सिद्धि-तप सिद्ध हुआ है। मैंने तो सिद्धि-तप का सपना भी नहीं लिया था। यह सपना अणिमाश्री ने लिया था और उन्होंने ही पूरा किया है।

उनकी दिव्य ऊर्जा मेरे रोम-रोम को ऊर्जामय बना देती है। मुंबई सभाध्यक्ष नरेंद्र तातेड़, पूर्व अध्यक्ष भंवरलाल कर्णावट, ठाणा सभाध्यक्ष देवीलाल, भाग्य कच्छारा, जयश्री बडाला, प्रेमलता सिसोदिया, महावीर डेलढीया, दिशांत डेलढीया, संदीप रांका, प्रतिभा चौपड़ा, कुलदीप चौपड़ा, कुलदीप बैद, अमराव देवी सेठिया, विमला बरलोटा, रमिला बडाला, नीलम सेठिया, राकेश टूकलिया, कल्याण मित्र कैलाश गोयल ने अपने श्रद्धा सिक्त उद्गारों के साथ साध्वी वृन्द के प्रति तप अनुमोदना की। काजल गोखरू, राशि श्रीश्रीमाल, विश्व बरलोटा, श्रद्धा कोठारी, जिनल बडाला, रिया राठौड़, पायल पुनमिया, जयश्री श्रीश्रीमाल, दिशा श्रीश्रीमाल, विनीता मेहता एवं रश्मि कोठारी कन्या मंडल ने भावपूर्ण गीत की प्रस्तुति दी। संचालन सभा के मंत्री जितेंद्र बरलोटा ने किया।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned