Mumbai News : 10वीं का परीक्षा परिणाम घोषित, राज्य का कुल परिणाम 95.30 प्रतिशत

लडकियों ने बाजी मारते हुए लड़कों की तुलना में अच्छा पदर्शन किया है। इस साल भी लड़कियों का परिणाम लड़कों की तुलना में 3 % अधिक है। लड़कियों का कुल परिणाम 96.91 प्रतिशत और लड़कों का 93.90 प्रतिशत है।

By: Binod Pandey

Published: 29 Jul 2020, 07:13 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुंबई. महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एंड हायर सेकेंडरी एजुकेशन ने 10वीं का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है। इस बार पूरे राज्य में 95.30 प्रतिशत छात्र उत्तर्णी हुए। इस बार भी लडकियों ने बाजी मारते हुए लड़कों की तुलना में अच्छा पदर्शन किया है। इस साल भी लड़कियों का परिणाम लड़कों की तुलना में 3त्न अधिक है। लड़कियों का कुल परिणाम 96.91 प्रतिशत और लड़कों का 93.90 प्रतिशत है। इस बार 10वीं की परीक्षा के लिए 17 लाख 65 हजार 898 छात्रों ने पंजीकरण कराया। इनमें से 17 लाख 9 हजार 264 छात्र परीक्षा में बैठे और 15 लाख एक हजार 105 छात्रों ने परीक्षा पास की।


इस बार कोंकण डिवीजन का परीक्षा परिणाम सबसे अच्छा रहा और औरंगाबाद डिवीजन सबसे पीछे रहा है। कोंकण - 98.77 प्रतिशत, पुणे - 97.34 प्रतिशत, नागपुर - 93.84 प्रतिशत, औरंगाबाद - 92 प्रतिशत, मुंबई - 96.72 प्रतिशत, कोल्हापुर - 97.64 प्रतिशत, अमरावती - 95.14 प्रतिशत, नासिक - 93.73 प्रतिशत, लातूर का परीक्षा परिणाम 93.09 प्रतिशत रहा।

इस साल 3 मार्च से 23 मार्च 2020 के बीच दसवीं कक्षा की परीक्षा आयोजित की गई थी। इसके लिए कुल 17 लाख 65 हजार 898 छात्रों ने पंजीकरण कराया था। इसमें 9 लाख 75 हजार 894 युवक छात्र और सात लाख 89 हजार 894 महिला छात्र, 110 तृतीय श्रेणी के छात्र, 9 हजार 45 विकलांग छात्र शामिल हुए। कोरोना की व्यापकता के कारण सरकार ने दसवीं कक्षा के अंतिम पेपर को रद्द करने का फैसला किया था।

पुणे से 2 लाख 5 हजार 642 छात्र, नागपुर से 1 लाख 954 हजार, 9 5 छात्र, औरंगाबाद से 2 लाख 1 हजार 522 छात्र, मुंबई से 3 लाख 9 2 हजार 99 1 विद्यार्थी, कोल्हापुर से 1 लाख 43 हजार 524 छात्र, अमरावती से 1 लाख 9 हजार 74 छात्र, नासिक से 2 लाख 16 हजार 375 छात्र, लातूर से 1 लाख 18 हजार 288 छात्र, कोंकण से 35 हजार 637 छात्रों ने परीक्षा पास की।

महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एंड हायर सेकेंडरी एजुकेशन ने बारहवीं कक्षा के परिणामों की घोषणा कर दी है। इसके बाद से छात्र और उनके परिजन दसवीं कक्षा के परिणाम के इंतजारी में थे। हर वर्ष 10 वीं के परिणाम जून के पहले सप्ताह में घोषित किए जाते हैं। इस साल कोरोना संकट ने सभी परिणामों में देरी की है। इस वर्ष राज्य का परिणाम 95.30 प्रतिशत है। कोंकण विभाग का परीक्षा परिणाम सबसे बेहतर रहा है। शिक्षा विभाग की अध्यक्ष शकुंतला काले ने कहा कि कोरोना के प्रकोप ने परिणाम में देरी से आए। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ और अन्य सभी ने हमें विशेष सहयोग दिया। इसके बाद शिक्षा विभाग के कर्मचारियों ने लॉकडाउन के दौरान दिन-रात कड़ी मेहनत की ताकि हम नतीजे पेश कर सकें। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते हमें भूूगोल का पेपर रद्द करना पड़ा, इसके लिए हमने सभी छात्रों को औसत अंक दिए हैं।

ठाणे जिले का 10 का रिजल्ट 96.61 प्रतिशत
ठाणे. जिले 10 वीं की परीक्षा में एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मार ली है। जिले में 96.61 फीसदी विद्यार्थी पास हुए है।जोकि पिछले वर्ष की तुलना में 18 फीसदी अधिक है।वहीं मुंबई विभाग में ठाणे जिला चौथे स्थान पर है। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से इस बार 1235 स्कूलों में पढ़ने वाले करीब 107830 विद्यार्थियों ने परीक्षा में हिस्सा लिया था। जिसमें से 107546 विद्यार्थियों ने सफलता हासिल की है। वहीं इस बार भी लड़कियों ने लड़कों को पछाड़ते हुए 97.67 फीसदी के साथ सफल हुई है। जबकि तहसील स्तर पर देखा जाए तो जिले में नवी मुंबई अव्वल रहा और भिवंडी सबसे पीछे रहा।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned