दलित संगठन भीम आर्मी के सदस्य का ऐसा चेहरा आया सामने, सभी रह गए दंग

भीम आर्मी से जुड़े कुछ लोगों ने क्षेत्र की ही एक युवती का अपहरण कर दो दिन तक बंधक बना कर रखा

By: Iftekhar

Published: 05 Jun 2018, 04:56 PM IST

शामली. पश्चिमी यूपी में दलित हित के अलमबरदार के तौर पर उभरे भीम आर्मी के सदस्यों का शामली जिले में घिनौना चेहरा सामने आया है। भीम आर्मी के कुछ सदस्यों पर एक युवती का अपहरण कर उसे 2 दिन तक बंधक बनाकर रखने का आरोप लगा है। आरोप है कि एक सप्ताह पूर्व भीमआर्मी से जुड़े कुछ लोगों ने क्षेत्र की ही एक युवती का अपहरण कर लिया और दो दिन तक बंधक बना कर रखा। इसके बाद किसी तरह से युवती आरोपियों के चंगुल से छूट कर घर पहुंची और सारी आप बीती परिजनों को बताई। युवती की दास्तान सुनने के बाद परिजनों ने इसकी शिकायत स्थानीय थाने में की, पुलिस ने भी कार्रवाई के नाम फिर खानापूर्ति करते हुए मामले की लीपापोती कर दी। पीड़ित युवती और उसके परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने शिकायत के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर थाने ले आयी थी, लेकिन आरोपियों के खिलाफ बिना कोई कार्रवाई किए ही उसे से छोड़ दिया गया। इससे आहत होकर इंसाफ के लिए दर-दर भटक रही पीड़िता ने मंगलवार को एसपी शामली से गुहार लगाई और इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच की मांग की है ।

यह भी पढ़ें- मुठभेड़ से थर्राया यूपी का यह शहर: पुलिस ने एक बदमाश को किया पस्त

आपको बता दें कि मामला भवन थाना क्षेत्र के काशीराम कॉलोनी का है। यहाँ 27 मई को एक युवती का अपहरण हो गया था। इसकी शिकायत परिजनों ने पुलिस से भी की थी, लेकिन शिकायत के बाद भी युवती का कोई सुराग नहीं लग पाया था। घटना के दो दिन बाद अचानक युवती घर वापस लौट अपनी आप बीती सारी आप परिजनों को बतायी। पीड़ित युवती का आरोप है कि क्षेत्र के गांव हरड़ फतेहपुर निवासी शुभम उसे अगवाह कर ले गया था और दो दिन तक उसे बंधक बना कर रखा। इसे लेकर पीड़ित परिजन थाने पहुँचे ओर नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। पीड़ित परिजनों का कहना है कि पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर थाने ले आयी थी, लेकिन आरोपी से साठ-गांठ कर आरोपी को थाने से छोड़ दिया गया, जिसके बाद से आरोपी के हौसले ओर बुलंद हो गए। इसी का फायदा उठाते हुए आरोपी दबंग युवक पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहा है। दरअसल आरोपी शुभम भीमआर्मी का सदस्य है, जिससे आहत होकर मंगलवार को पीड़ित परिवार एसपी ऑफिस पहुंचा और आरोपियों से जान से खतरा जताते हुए जल्द ही गिरफ्तारी की मांग की है। फिलहाल, एसपी देवरंजन वर्मा ने इस पूरे मामले की जांच सीओ भवन अरविंद राठौर को सौप दी है ।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned