डिप्टी सीएम के सामने नतमस्तक दिखे कैराना उपचुनाव के पीठासीन अधिकारी, निष्पक्षता पर सवाल

PWD गेस्ट हाउस में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या से शिक्षकों के नेता

By: Iftekhar

Published: 23 May 2018, 04:23 PM IST

मुजफ्फरनगर. उत्तर प्रदेश के जनपद शामली की कैराना लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव की निष्पक्षता पर उस समय सवालिया निशान खड़े हो गए, जब अपने आप को पीठासीन अधिकारी बताते हुए कुछ अध्यापक मुजफ्फरनगर में लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस पर ठहरे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या से मिले। वैसे तो अध्यापक बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर उप मुख्यमंत्री से मिल चुके थे। मगर लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस पर ठहरे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या से मिलते हुए इन लोगों ने उपमुख्यमंत्री को अपना परिचय दिया और बताया कि हम कैराना उपचुनाव में पीठासीन अधिकारी के पद पर भी लगाए गए हैं। इसके साथ ही इन लोगों ने यह भी कहा कि हम अपनी जिम्मेदारी भी समझते हैं कि हमें क्या करना है। इससे आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि किस तरह शिक्षकों के नेता जो कि उपचुनाव में ड्यूटी पर लगे हो और वे जब एक पार्टी विशेष के नेता के सामने हाथ जोड़े खड़े हो तो उनसे किस तरह की उम्मीद की जा सकती है।

यह भी पढ़ें- एमडीएच के गरम मसाले का सैंपल जांच में हुआ फेल,अदालत ने लगाया लाखों रु. का जुर्माना, कंपनी के छूटे पसीने

आपको बता दें कि मंगलवार को सहारनपुर के अंबेहटा में हुई भारतीय जनता पार्टी की चुनावी जनसभा को संबोधित करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य आए हुए थे। सभा के बाद उप मुख्यमंत्री देर शाम मुजफ्फरनगर में PWD गेस्ट हाउस पर पहुंचे। जहां उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मुलाकात की, जिसमें कार्यकर्ताओं से चुनाव को लेकर भी चर्चा की। सुबह के समय फिर मुख्यमंत्री से मुलाकात का दौर शुरू हुआ इसी बीच बेसिक शिक्षा विभाग के एक शिक्षक नेता अरविंद मलिक कई अध्यापकों के साथ PWD गेस्ट हाउस पहुंचे। यहां उन्होंने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या से मुलाकात की। इस दौरान इन लोगों ने उन्हें बेसिक शिक्षा विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की। इसी बीच सांसद संजीव बालियान ने अध्यापकों का परिचय उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से कराया,जिसके बाद शिक्षक नेता अरविंद मलिक ने उप मुख्यमंत्री के सामने नतमस्तक होते हुए कहा कि हम सभी कैराना उपचुनाव में पीठासीन अधिकारी के पद पर लगे हैं और हमें अपनी जिम्मेदारी का पता है कि हमें क्या करना है

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned