देर रात तक चला नामांकन पत्रों की जांच का काम, 135 हुए खारिज

नामांकन पत्र अधिक होने से लगा समय, जिले के 9 नगरीय निकायों में 28 जनवरी को होंगे चुनाव

By: shyam choudhary

Published: 17 Jan 2021, 11:21 AM IST

नागौर. नगर परिषद चुनाव को लेकर 15 जनवरी तक भरे गए आवेदनों की जांच का कार्य 16 जनवरी को देर रात तक चला। जांच के बाद नागौर नगर परिषद में 135 आवेदन खारिज पाए गए।

गौरतलब है कि नागौर नगर परिषद के 60 वार्डों के लिए कुल 517 आवेदन भरे गए, जिनकी संवीक्षा शनिवार को सुबह 10 से दोपहर तीन बजे तक की जानी थी, लेकिन आवेदनों की संख्या अधिक होने के कारण कर्मचारी व अधिकारी देर रात तक नामांकन पत्रों की जांच करने में जुटे रहे। जांच के बाद सही पाए जाने वाले आवेदनों के प्रत्याशियों द्वारा 19 जनवरी को नाव वापस लिए जा सकेंगे। नाम वापसी के बाद 20 जनवरी को चुनाव चिह्न आवंटित किए जाएंगे तथा 28 जनवरी को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक मतदान होगा। वहीं 31 जनवरी को मतगणना की जाएगी।

गौरतलब है कि जिले की नागौर नगर परिषद सहित कुल 9 नगरीय निकायों में आगामी 28 जनवरी को पार्षद पद के लिए होने वाले मतदान को लेकर नामांकन भरने की प्रक्रिया शुक्रवार को पूरी होने के बाद 16 जनवरी को नामांकन पत्रों की जांच की गई। 19 को नाम वापसी के बाद 20 जनवरी को चुनाव चिह्न आवंटित किए जाएंगे।

जिले के नौ नगरीय निकायों में भरे गए कुल आवेदन पत्रों पर नजर डालें तो सबसे अधिक आवेदन नागौर नगर परिषद में भरे गए हैं। यहां 60 वार्डों के लिए 516 आवेदन भरे गए हैं, यानी एक वार्ड में औसत 8.6 जनों ने आवेदन किया है, दूसरे नम्बर पर सबसे अधिक आवेदन मेड़ता सिटी नगर पालिका में भरे गए हैं। वहीं सबसे कम आवेदन परबतसर नगर पालिका में भरे गए हैं। परबतसर में 25 वार्डों के लिए 114 आवेदन भरे गए हैं। रिटर्निंग अधिकारियों के अनुसार कई प्रत्याशी ऐसे हैं, जिन्होंने पार्टी के साथ निर्दलीय के रूप में भी आवेदन किए हैं, यानी आवेदन करने वाले प्रत्याशियों की संख्या कुल आवेदनों की तुलना में काफी कम है।

जानिए, कहां कितने भरे गए आवेदन
निकाय - कुल वार्ड - कुल आवेदन
नागौर - 60 - 516
लाडनूं - 45 - 342
मेड़ता सिटी - 40 - 337
कुचामन सिटी - 45 - 255
नावां - 25 - 132
मूण्डवा - 25 - 146
कुचेरा - 25 - 122
परबतसर - 25 - 114
डेगाना - 25 - 127

नामांकन वापसी के बाद होगी स्थिति साफ
चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों की संख्या नामांकन वापसी के बाद स्पष्ट होगी। कई प्रत्याशी ऐसे हैं जिन्होंने दो से तीन नामांकन भरे हैं, जिनमें एक पार्टी से व शेष निर्दलीय के रूप में हैं। टिकट मिलने या नहीं मिलने के बाद उनके द्वारा उठाए जाने वाले तथा रिजेक्ट होने वाले आवेदनों के बाद मैदान में रहने वाले प्रत्याशियों की स्थिति साफ होगी।

Show More
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned