भर्ती में प्राथमिकता नहीं तो धरने पर बैठे

Nagaur.मुख्यमंत्री एवं सहकारिता मंत्री को भेजा ज्ञापन

By: Sharad Shukla

Published: 29 Jul 2021, 09:24 PM IST

नागौर. सरस डेयरी से जुड़े ठेकाकर्मी दुग्ध संघ की ओर से अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार का एलान कर दिया गया। संघ के प्रतिनिधियों का कहना है कि राजस्थान डेयरी फेंडरेशन व नागौर डेयरी में कार्य बहिष्कार को प्रभावी तरीके से चलेगा, क्यों कि उनकी मांगों पर लंबे समय से ध्यान नहीं दिया जा रहा। आरसीडीएफ एवं दुग्ध संघों में सालों से ठेका पद्धति से जुड़े होने के बाद भी उनको भर्ती में वरीयता नहीं दी जाती है। आरसीडीएफ एवं दुग्ध संघों में सहकारी भर्ती बोर्ड की ओर से कराई जा रही भर्ती में उनको कोई प्राथमिकता नहीं मिल रही है। जबकि पूर्व में राज्य सरकार, सहकारी भर्ती बोर्ड, आरसीडीएफ एवं डेयरी प्रशासन को मांगपत्र देकर इससे अवगत कराया जा चुका है। इस संबंध में ज्ञापन पत्र मुख्यमंत्री, सहकारिता मंत्री, पशुपालन मंत्री एवं आरसीडीएफ प्रबन्ध संचालक जयपुर को भेजकर यथोचित कदम उठाए जाने का आग्रह किया है। धरना में शिवराज एवं महेन्द्र आदि मौजूद थे।

विद्यालय में कक्षा-कक्ष निर्माण शुरू
नागौर. राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय अमरपुरा में भामाशाहों के सहयोग से दो बड़े कमरे व एक हॉल की नींव का मुहूर्त कराकर निर्माण कार्य शुरू करने का शुभारंभ किया गया। साईंबाबा ट्रस्ट चूंटीसरा के प्रधान ट्रस्टी माधवदास व ट्रस्टी भगतसिंह ने नींव का मुहूर्त कराया। साईंबाबा ट्रस्ट के कार्यों से प्रेरित होकर भामाशाह धन्नाराम, अचलाराम, भोजाराम, नाथूराम घोषलिया की ओर से भी एक कमरे का निर्माण कार्य शुरू कराया गया। इस दौरान परिसर में पौधे भी लगाए गए। इसमें एसीबीईओ महबूब खान, प्रधानाचार्य शिवराज सिंह, धर्मेन्द्र सोलंकी, पूनाराम, अमराराम प्रजापत, जगन्नाथ, नेनाराम, सुशीला चौधरी, गोवर्धनराम मुण्डेल एवं रामनिवास आदि मौजूद थे।

Sharad Shukla Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned