बीटीटीएस सदस्यों को दी पंचायतीराज योजनाओं की जानकारी

Nagaur. जिला परिषद में पंचायतीराज प्रशिक्षण कार्यक्रम में दूसरे दिन भी जुटे अधिकारी व सदस्य
-सामुदायिक कार्यो में भूमि समतल, मेडबन्दी, टांका निर्माण आदि विषयों पर बिंदुवत समझाया

By: Sharad Shukla

Published: 26 Aug 2021, 10:33 PM IST

नागौर. जिला परिषद में सभागार में चल रहे राजस्थान पंचायतीराज प्रशिक्षण कार्यक्रम के रिफ्रेशर कोर्स में बीटीटीएस सदस्यों को महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार कार्यक्रम के अन्तर्गत जॉबकार्ड बनाने परिवार की पात्रताए मनरेगा के अन्तर्गत सम्पादित करवाये जाने वाले व्यक्तिगत व सामुदायिक कार्यो में भूमि समतल, मेडबन्दी, टांका निर्माण इत्यादि की विस्तृत बिंदुवत जानकारी दी गई। मनरेगा सहायक अभियंता दिनेश चौधरी ने इसके बारे समझाते हुए कहा कि सभी सदस्यों को इससे जुड़े पहलुओं की जानकारी रखनी चाहिए। कृषि अधिकारी शंकरलाल सियाक ने फसल बीमा योजना, जैविक खेती, जैविक खाद, जीरो बजट फार्मिंग, बायो पेस्ट, पाईप लाईन, फार्म पाण्ड, तारबन्दी, बीज मिनिकिटस वितरण कृषि यन्त्र आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। सामुदायिक विकास सहायक अभियंता मोनू कंवर ने ठोस एवं तरल कचरा प्रबन्धन तथा नवीकृत ऊर्जा के क्षेत्र में पंचायती राज संस्थाओं की भूमिका पर प्रकाश डाला। मुख्य आयोजना अधिकारी श्रवणलाल ने जिला एवं ब्लॉक स्तर पर आयोजन होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों के संबंध में तैयारी एवं योजना निर्माण के बारे में जानकारी दी। इसमें जिले के सभी ब्लॉकों के विकास अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, महिला पर्यवेक्षक, सहायक कृषि अधिकारी, एनजीओ प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे। इसके पूर्व गुरुवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत जिला प्रमुख भागीरथराम चौधरी की अध्यक्षता में हुई। इसमें पंचायती राज की त्रिस्तरीय व्यवस्था संगठन के बारे में व ग्राम सभाओं व आपदा प्रबन्धनए ई-गर्वनेन्स की जानकारी दी गई।

Sharad Shukla Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned