पांचौड़ी पुलिस पर पथराव, पांच सिपाही घायल

पुलिस थाने के सामने फलोदी-नागौर मार्ग पर लगाया जाम, पुलिस ने भांजी लाठियां, नहीं माने तो हवाई फायर

By: Anuj Chhangani

Published: 15 Nov 2018, 12:17 AM IST

खींवसर. पांचौड़ी से नाहरसिंहपुरा मार्ग पर गत शनिवार को ट्रेक्टर की चपेट में आने से घायल हुए मोटरसाइकिल सवार की बुधवार को मौत हो गई। पुलिस ने जोधपुर अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। लेकिन बाद में परिजनों सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण बुधवार शाम को शव लेकर पांचौड़ी पुलिस थाने के सामने पहुंच गए। ग्रामीणों ने नागौर-फलोदी मार्ग पर जाम लगा दिया। ग्रामीणों व परिजनों ने इस प्रकरण में हैड कांस्टेबल को दोषी ठहराते हुए उसे हटाने की मांग की। पुलिस ने जाम लगा रहे लोगों से समझाइश की, लेकिन वह नहीं माने। पुलिस ने 144 धारा का हवाला देते हुए जाम हटाने को कहा, लेकिन ग्रामीण पुलिसकर्मियों से उलझने लगे। इस पर पुलिस ने एकबारगी लाठी भांजकर भीड़ को तितर बीतर किया। बाद में भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए हवाई फायर किए। पथराव में पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए। प्रदर्शनकारियों ने एम्बुलेंस व पुलिस थाने की जीप को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिसकर्मियों के ढाल व हेलमेट तोड़ दिए। बाद में खींवसर थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची और अतिरिक्त पुलिस जाप्ता बुलाकर भीड़ को तितर बितर किया गया। देर रात अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक राजकुमार एवं पुलिस उपाधीक्षक सुभाष मिश्रा पांचौड़ी पहुंचे। उन्होंने थाने में मृतक के परिजनों एवं गांव के सरपंच सरपंच देवाराम सुथार सहित गणमान्य लोगों के साथ वार्ता की। घायल पुलिसकर्मियों का पांचौड़ी अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया गया।

यह था मामला
पांचौड़ी पुलिस थाना क्षेत्र के नाहरसिंहपुरा मार्ग पर गत शनिवार को एक ट्रेक्टर की चपेट में आने से मोटरसाइकिल चालक श्रवणराम पुत्र रामूराम की मौत हो गई थी। उसके साथ सवार भोमाराम पुत्र नारायणराम गम्भीर रूप से घायल हो गया था। उसे प्राथमिक उपचार के बाद जोधपुर रैफर किया गया। घटना के बाद ग्रामीणों ने रविवार को पुलिस थाने का घेराव कर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। इस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपियों को नामजद किया। इस पर ग्रामीण एवं परिजन शांत हुए। बुधवार को जोधपुर में इलाज के दौरान भोमाराम की भी मौत हो गई। वहां पुलिस ने भोमाराम का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा। लेकिन शव लेकर आई एम्बुलेंस के पांचौड़ी पहुंचने पर परिजनों एवं कुछ ग्रामीणों ने उसे थाने के आगे खड़ी करवा दिया और शव ले जाने से मना कर दिया। इस दौरान एकत्रित भीड़ ने नागौर-फलोदी मार्ग पर जाम कर दिया। इससे मार्ग पर वाहनों की कतार लग गई।

पुलिस ने लाठियां भांजी
ग्रामीणों द्वारा शव नहीं हटाने एवं राजमार्ग को जाम करने पर पुलिस ने लोगों से समझाइश की, लेकिन वह नहीं माने तो पुलिस ने लाठियां भांजी। इससे भीड़ एक बार तो बिखर गई, लेकिन दुबारा थाने पहुंचकर पथराव शुरू कर दिया। लोगों ने पांचौड़ी पुलिस थाना की जीप एवं एम्बुलेंस को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान भीड़ को हटवा रहे सिपाही सोहनराम, हुक्माराम, रामनिवास, धरमी मीणा व सुखदेव घायल हो गए। हुक्माराम के अधिक चोटें आई। घायल सिपाहियों का पांचौड़ी अस्पताल में प्राथमिक उपचार कर मेडिकल करवाया गया। पांचौड़ी थाना प्रभारी स्वागत पाण्ड्या ने भीड़ में शामिल शराबी लोगों द्वारा पत्थराव करने की बात कही है।

Anuj Chhangani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned