बकाया भुगतान से हांफते शिक्षण संस्थानों को मिली राहत

Nagaur patrika latest news.जिले के शिक्षण संस्थानों में अन्नपूर्णा दुग्ध योजना, कुम कम हेल्पर एवं कुकिंग कन्वर्जन का बकाया चल रहा नौ करोड़ 15 लाख का भुगतान शिक्षा विभाग ने कर दियाNagaur patrika latest news.

Sharad Shukla

September, 2201:00 PM

Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

Nagaur patrika latest news..नागौर. जिले के शिक्षण संस्थानों में अन्नपूर्णा दुग्ध योजना, कुम कम हेल्पर एवं कुकिंग कन्वर्जन का बकाया चल रहा नौ करोड़ 15 लाख का भुगतान शिक्षा विभाग ने कर दिया है। शिक्षा विभाग ने यह राशि संबंधित विद्यालयों के खातों में हस्तांतरित भी करा दी। इससे पिछले कुछ माह से इन मदों के बकाया रहने के कारण हालात बेहद खराब होने लगे थे।

बीएसएनएल ईयू बनी देश की नंबर वन यूनियन
अन्नपूर्णा दुग्ण योजना एवं मिड डे मील में चल रहे बकाए की समस्या से जिले के शिक्षण संस्थानों को फिलहाल आंशिक रूप से राहत मिल गई है। भुगतान नहीं होने के कारण जिले शिक्षण संस्थानों की हालत बिगडऩे लगी थी। शिक्षकों को बमुश्किल जुगाड़ कर काम चलाना पड़ रहा था। इस संबंध में राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत के जिलाध्यक्ष अर्जुन लोमरोड के नेतृत्व में जिला कलक्टर से मिलकर समस्या से अवगत भी कराया गया था। भुगतान नहीं होने की स्थिति में योजनाओं के सुचारु रूप से संचालन पर संकट की स्थिति उत्पन्न होने लगी थी। शिक्षा विभाग ने कुम कम हेल्पर एवं अन्नपूर्णा दुग्ध योजना का अप्रैल 19 से जून 19 तक तीन माह का भुगतान और कुकिंग कन्वर्जन का माह अप्रैल 19 से जुलाई 19 तक का बकाया भुगतान कर दिया है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार यह राशि जिले के सभी शिक्षण संस्थानों के खातों में भेजी जा चुकी है।

पढ़ाने वाले शिक्षक खुद ही नहीं समझ पाए कि क्या कर दिया यह...!
अनियमितता मिली तो कार्रवाई
शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार कुछ विद्यालयों में निरीक्षण के दौरान मिड डे मील, भोजन चखने का, उपस्थिति रजिस्टर सहित कई अन्य महत्वपूर्ण रिकार्डों के संधारण में न केवल अनियमितताएं मिली थी, बल्कि कुछ जगहो ंपर तो रजिस्टर में संधारण ही नहीं था। इस संबंध में जिला कलक्टर दिनेश यादव ने भी एक बैठक में शिक्षाधिकारियों को इसमें सुधार लाने की हिदायत दी थी। मिड डे मील आदि की सूचना व नियमित तौर पर एसएमएस के माध्यम से अनिवार्य रूप शिक्षण संस्थानों के संस्था प्रधानों को देने के लिए पाबंद किया गया है। ऐसा नहीं किए जाने पर वह विभागीय अनुशासनहीनता के दायरे में आ जाएंगे। कलक्टर ने भी सीबीईओ एवं एसीबीईओ संबंधित एरिया चल रहे खेत प्रतियोगिताओं के संदर्भ में आवश्यक व्यवस्थाओं के बाबत ध्यान रखे जाने के निर्देश दिए हैं। जिला मुख्यालय की ओर से इस संबंध में सभी को अवगत कराया जा चुका है। इसके बाद भी ध्यान नहीं दिए जाने पर इसे विभाग की ओर से लापरवाही मानी जाएगी।

स्टेट नोडल आफिसर पहुंचे तो चमकता मिला जेएलएन
इनका कहना है...
अन्नपूर्णा दुग्ध योजना, कुम कम हेल्पर एवं कुकिंग कन्वर्जन का बकाया भुगतान हो चुका है। नौ करोड़ 15 लाख की राशि सभी संबंधित विद्यालयों के खातों भेजी जा चुकी है। इसके अलावा अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं को सुचारु रूप से संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं।
मोतीराम नवल, अतिरिक्त जिला शिक्षाधिकारी, नागौरNagaur patrika latest news.

Sharad Shukla
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned