शहर में जगह-जगह गंदगी का आलम, मतदान को लेकर शहरवासियों ने कही ये बातें

शहर में जगह-जगह गंदगी का आलम, मतदान को लेकर शहरवासियों ने कही ये बातें

Lalit Saxena | Publish: Oct, 14 2018 08:06:03 AM (IST) Nagda, Madhya Pradesh, India

स्वच्छता से जूझ रहा शहर दे सकता है चुनाव में सबक

नागदा. शहर की स्वच्छता व्यवस्था फिर से डगमगाने लगी है। स्वच्छ भारत अभियान के बाद स्वच्छता व्यवस्था ठंडे बस्ते में चली गई है। नगर पालिका द्वारा की जा रही तमाम कोशिशें नाकाम साबित हो रही है। कारण रहवासी क्षेत्रों में पसरी गंदगी है। मामले को लेकर शहर के मतदाताओं में आक्रोश व्याप्त है। मतदाताओं का तर्क है, कि जनप्रनिधियों द्वारा हर बार स्वच्छता व्यवस्था को माकूल किए जाने को लेकर कई प्रकार के वादे किए जाते है, लेकिन चुनाव बीतने के बाद सारे वादे धरे के धरे रह जाते है। शहर के पाड्ल्या कलां, मेहतवास, बिरलाग्राम स्लम एरिया में सफाई व्यवस्था चरमाई हुई है। मतदाताओं ने निर्णय लिया है, कि जनप्रतिनिधियों के वादों को नजर अंदाज कर प्रत्याशियों के पुराने कामों का सोचकर मत देंगे।
क्या है परेशानी
दरअसल नगर पालिका की अगुवाई में बीते दिनों नगर उदय अभियान चलाया गया था, लेकिन अभियान के समाप्त होते ही जिम्मेदारों ने सफाई व्यवस्था से पल्ला झाड़ लिया। बता दें कि जनप्रतिनिधियों द्वारा लोगों को स्वच्छता के लिए प्रेरित कर आसपास गंदगी नहीं करने की हिदायत दी गई थी। निर्देशों पर रहवासियों ने सबक तो ले लिया, लेकिन जिम्मेदारों द्वारा उनकी ड्यूटी ठीक प्रकार से नहीं निभाई जा रही है। शहर के इंगोरिया रोड, इंद्रपुरी, गर्वनमेंट कॉलोनी, इंदू कॉलोनी व बस पुरानी कोटा फाटक क्षेत्र में अंदरूनी इलाकों में गंदगी का अंबार लगा हुआ है। रहवासियों का तर्क है, कि सफाई कर्मचारियों की गाडिय़ा घरों तक नहीं पहुंच पाती। साथ ही सफाई स्थिति पहले जैसी है।
स्वच्छता के पोस्टर के समीप गंदगी
ग्राम पाड्ल्या में स्वच्छता की प्रेरणा देने वाले पोस्टर से कुछ दूरी पर ही गंदगी पसरी पड़ी है। क्षेत्र के लोगों का कहना है, कि उक्त स्थान से नपा सफाईकर्मी गंदगी उठाने नहीं आते। इतना ही नहीं कचरा एकत्र करने वाली गाडिय़ा भी यदाकदा पहुंचती है। लोगों के सामने परेशानी गंदगी के साथ अधिकारियों द्वारा कि जाने वाली शिकायतों की अनदेखी भी हैं।
यह बोले मतदाता
घरों से जितनी मात्रा में कचरा निकला उसे या तो जलाकर खत्म किया जाता है। या इक_ा किया जाता है, हमारी भी मजबूरी है, कचरा गाड़ी घरों तक नहीं पहुंचेगी तो कचरा कहां फेंके।
राधा बाई, रहवासी
शहर के पाड्ल्या कलां, मेहतवास, बिरलाग्राम स्लम एरिया में सफाई व्यवस्था चरमाई हुई है। जनप्रतिनिधियों के वादों को नजर अंदाज कर प्रत्याशियों के पुराने कामों का सोचकर मत देंगे।
राकेश जोकचंद, रहवासी
इनका कहना
शहर की सभी स्थानों की सफाई व्यवस्था दुरस्त है। यदि किसी क्षेत्र में सफाई व्यवस्था नहीं है या सफाई कर्मचारी नहीं पहुंचते है तो नगर पालिका में शिकायत करें।
भविष्य कुमार खोब्रागढ़े, सीएमओ, नगर पालिका

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned