सीएम अधोसंरचना की 3.19 करोड़ की राशि से बदलेगी नगर की तस्वीर

इस राशि से एनएच से हरसिद्धी मंदिर वाले सड़क 65 लाख ,नाले का जीर्णोद्धार 38 लाख, हाट बाजार 1.4 करोड़, नवीन बस स्टेंड 1.12 करोड़ की लागत के काम होंगे।

तेंदूखेड़ा. नगर परिषद् तेंदूखेड़ा के विकास के लिए मुख्यमंत्री अधोसंरचना के तहत राशि जारी की गई है। एनएच 12 से हरसिद्धी मंदिर होते हुए पुजारी मोहल्ला तक सड़क नवीन बस स्टेंड के प्लेट फार्म वेटिंग हाल, टिकट घर मंडी तरफ से पुराने बस स्टेंड होते हुए नीचे पाल मोहल्ला तक नाले का एवं हाट बाजार के निर्माण हेतु 3.19 करोड़ रुपये की राशि शासन से जारी की गई है। विधायक संजय शर्मा के प्रयासों से यह राशि जारी की गई है। इस राशि से एनएच से हरसिद्धी मंदिर वाले सड़क 65 लाख ,नाले का जीर्णोद्धार 38 लाख, हाट बाजार 1.4 करोड़, नवीन बस स्टेंड 1.12 करोड़ की लागत के काम होंगे।
32 शेडों के चारों तरफ बनेगी सड़क और नालियां
जिस बाजार में बरसात के दिनों में चारों तरफ कीचड़ ही कीचड़ फिर जहंा तहां पानी का भराव बने रहने से दुकानों को लगाने में परेशानी हुआ करती थी। इस बारिश में मुक्ति मिल जायेगी। 1.4 करोड़ की लागत से इस बाजार की तस्वीर बदले जाने हाट बाजार का काम प्रारंभ हो गया है। जिसमें 32 छायादार शेड लगभग 20 फुट चौड़ी तीन सड़क बाजार के चारों तरफ बीच में 10-10 फीट की सड़कें पार्किंग की व्यवस्था पेवर ब्लॉक, संपूर्ण बाजार में शेड के बाजू नालियों का निर्माण होगा। जिन्हें बड़े नालों में जोड़ दिया जाएगा। प्रकाश की व्यवस्था के साथ स्वच्छता का भी विशेष ध्यान रखा जाएगा। इस काम के साथ ही बाजार के चारों तरफ की बाउंण्ड्री वाल भी कराने की दिशा में प्रयास जारी है। तेंदूखेड़ा क्षेत्र का सबसे बड़ा बाजार माना जाता है। तथा काफी दूर दूर से इस बाजार में अपनी अपनी दुकानें लेकर पहुंचा करते हैं।
हरसिद्धी मंदिर वाली सड़क का काम भी शुरू
मुख्यमंत्री अधोसंरचना के तहत ही राष्ट्रीय राजमार्ग 12 से हरसिद्धी मंदिर होते हुए नीचे पुजारी मोहल्ला तक चौड़े सड़क मार्ग का भी काम लगभग प्रारंभ हो गया है। लगभग 65 लाख रुपये की लागत से बनने वाली इस सड़क के निर्माण को लेकर काफी लंबे समय से कयास लगाये जा रहे थे। क्षेत्र के प्रतिष्ठित हरसिद्धी मंदिर तक पहुंचने के लिए एक चौड़ा मार्ग न होना सोचनीय विषय बना हुआ था। इस योजना से अलग नाले पर पुल निर्माण की भी योजना है। नगर के भीतर के लोग अब भीतर से होते हुए सीधे बाहर एनएच 12 पर पहुंच जायेंगे।
इस बस स्टेंड के साथ नाले का भी निर्माण
लगभग 3 साल पहले अतिक्रमण से मुक्त कराकर खोदकर डाले गए नाले का भी उद्धार इसी योजना से लगभग 38 लाख रुपये की लागत से शुरू हो रहा है। इस नाले के निर्माण के ऊपर से मंडी तरफ का जो बरसाती और निस्तारी पानी आने से मकानों में भरा करता था। और विषैले जीव पानी में बहकर आने से घरों में घुसा करते थे। कीचड़ युक्त माहौल देखने मिलता था उससे भी निजात मिल जाएगी। यह नाला ऊपर से नीचे तक बनना भी बहुत जरूरी हो गया था। वहीं नवीन बस स्टेंड को सर्वसुविधा युक्त बनाना भी समय के हिसाब से जरूरी हो गया था।
------------------------------------------------------

ajay khare Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned