रात ढाई बजे रेत खदान पर छापा, एक जेसीबी, 10 डंपर रेत जब्त

रात ढाई बजे रेत खदान पर छापा, एक जेसीबी, 10 डंपर रेत जब्त
sand mining

Abi Shankar Nagaich | Updated: 24 Jul 2019, 08:55:55 PM (IST) Narsinghpur, Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

बारिश में रोक के बावजूद भी रेवानगर घाट से हो रहा था अवैध रेत उत्खनन

 

नरसिंहपुर. बारिश में सभी रेत खदानों से रेत के खनन पर रोक के बावजूद नर्मदा के रेवानगर घाट से रेत का अवैध खनन किया जा रहा था। रात 2 बजे कलेक्टर को सूचना मिलने पर उन्होंने मौके पर पुलिस, राजस्व और खनिज विभाग की टीम को भेजा जिसने रात में 2.30 बजे मौके से एक जेसीबी मशीन जब्त की। दिन में करेली से संजय दुबे के घर के परिसर से 10 डंपर रेत का स्टाक जब्त किया। खनिज विभाग ने प्रकरण दर्ज कर लिया है।
जानकारी के मुताबिक रेवानगर मेें कई दिनों से रात के समय नर्मदा घाट से अवैध रूप से रेत निकाली जा रही थी। इसकी जानकारी मिलने पर कलेक्टर ने टीम को भेजकर कार्रवाई कराई। एसडीएम महेश बमनहा, तहसीलदार, खनिज अधिकारी आरके पटेल, निरीक्षक सुमित गुप्ता, एसडीओपी, करेली थाना टीआई ने दल बल सहित मौके पर दबिश दी। टीम के पहुंचते ही रेत का अवैध खनन कर रहे रेत माफिया के लोग मौके से मशीन छोड़ कर भाग निकले। रात में ही जेसीबी को करेली थाना लाने का प्रयास किया गया पर उसकी चाबी न होने से उसे नहीं लाया जा सका। जेसीबी मालिक संजय दुबे ने स्वयं सुबह मशीन थाने पहुंचाने की बात कही जिस पर पुलिस ने उसे सुबह तक की मोहलत दी । मशीन की जब्ती के बाद मौके पर पुलिस तैनात कर दी गई पर सुबह मशीन के थाने न पहुंचाए जाने पर पुलिस और खनिज विभाग की टीम ने किसी तरह मशीन थाने पहुंचाई। इस बीच दुबे को पुलिस ने थाने में बैठाकर रखा। सुबह टीम ने विस्तृत कार्रवाई की और उसके निवास के परिसर में स्टाक किए गए 10 डंपर रेत जब्त की। बताया गया है कि स्टाक स्थल पर जो डंपर पाए गए उनमें से किसी में भी नंबर नहीं था और न ही उनका खनिज विभाग में पंजीयन कराया गया है।

लंबे समय से चल रहा था रेत का खेल
जानकारी के अनुसार रेवानगर से बड़े पैमाने पर रेत का खेल काफी समय से चल रहा था। शासन की पुरानी व्यवस्था के तहत यह रेत खदान खैरी महलवार पंचायत के पास थी। जिसे एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक ने अवैध रूप से ठेके पर ले लिया था और मनमाने दामों पर रेत बेची जा रही थी। शासन द्वारा निर्धारित 250 रुपए प्रति ट्राली रायल्टी की बजाय 1200 रुपए और डंपर के लिए निर्धारित 1500 की बजाय 7000 रुपए प्रति डंपर की दर से रेत बेची जाती रही। बारिश के सीजन में रेत के खनन पर रोक के बावजूद इस खदान से रेत का अवैध खनन और परिवहन जारी था।


इनका कहना है
रेवानगर से रेत के अवैध खनन व करेली में रेत के अवैध स्टाक के मामले में आरोपी संजय दुबे पाया गया है। जेसीबी और 10 डंपर रेत जब्त की है। दुबे ने स्वीकार किया है कि जेसीबी व रेत उसी की है।
सुमित गुप्ता, खनिज निरीक्षक

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned