टेबल पर मोबाइल, हाथ में उत्तरपुस्तिका, बोर्ड की गोपनीयता पर मंडरा रहा खतरा

टेबल पर मोबाइल, हाथ में उत्तरपुस्तिका, बोर्ड की गोपनीयता पर मंडरा रहा खतरा
board exam

Abi Shankar Nagaich | Updated: 24 Apr 2019, 09:14:24 PM (IST) Narsinghpur, Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

टेबल पर ही मोबाइल और बैग रखकर चेक कर रहे बोर्ड परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिका
उत्कृष्ट विद्यालय में दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य में नियम ताक पर

नरसिंहपुर. शहर के उत्कृष्ट विद्यालय में दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य में नियम ताक पर रखे जा रहे हैं। इसमें करीब 300 से ज्यादा मूल्यांकनकर्ता उत्तरपुस्तिकाओं को चेक कर रहे हैं। मूल्यांकन के दौरान मोबाइल रखने पर प्रतिबंध है, इसके बाद भी शिक्षक मोबाइल और बैग रखकर उत्तर पुस्तिकाएं चैक कर रहे हैं। इससे बोर्ड की गोपनीयता पर सवाल उठ रहे हैं, जबकि केंद्र में निगरानी के लिए प्रेक्षक भी बनाए गए हैं, जिन्हें समय-समय पर यहां पहुंचकर जांच करनी है, इसके बावजूद परीक्षकों को अधिकारियों का भय नहीं हैं।
पत्रिका टीम ने बुधवार शाम 4 बजे केंद्र में पहुंचकर जायजा लिया तो यह सामने आया कि शिक्षकों को मोबाइल व बैग लेकर जाने से कोई नहीं रोकता। कुछ शिक्षक तो यहां बकायदा मोबाइल में सोशल मीडिया व इंटरनेट चलाते हुए नजर आए। इस लापरवाही से अब गड़बड़ी की आशंका भी जताई जा सकती है। माशिमं के कड़े निर्देश होने के बावजूद भी मूल्यांकनकर्ता कक्ष के अंदर मोबाइल, बैग और अन्य सामग्री ले जा रहे हैं। जबकि मंडल ने इन पर प्रतिबंध लगाया है।


निर्धारित अवधि से पहले पूरा होगा काम
जिले में मूल्यांकन कार्य में 300 शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है। वे प्रतिदिन मूल्यांकन कार्य को पूरा करने में लगे हैं। यह काम अंतिम दौर में चल रहा है। केंद्र प्रभारी का कहना है कि 5 मई तक सभी उत्तरपुस्तिका जांच करने का लक्ष्य तय किया गया था, लेकिन काम इससे पहले पूरा हो जाएगा।


हिंदी की 28 हजार उत्तरपुस्तिकां बाकी
जानकारी के अनुसार जिले में 10वीं व बारहवीं की करीब 1 लाख 40 हजार कापियां मूल्यांकन के लिए आई थीं। इसमें 1 लाख 12 हजार उत्तरपुस्तिकाओं की जांच की चुकी है। फिलहाल हिंदी विषय की करीब 28 हजार उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जाना शेष है। इसके एक सप्ताह में पूरा करने की उम्मीद जताई जा रही है।


इनका कहना है
मूल्यांकन केंद्र में मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित है। हम शिक्षकों की जांच भी करते हैं और मोबाइल जमा करवाते हैं। हो सकता है कोई शिक्षक भूलवश मोबाइल अंदर ले गया हो।
जीडी गढ़ेवाल, प्रभारी, मूल्यांकन केंद्र

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned