बंदूक की नोक पर रॉयल्टी वसूल रहा रेत माफिया धनलक्ष्मी

नदियों के प्रतिबंधित घाटों पर रेत का अवैध खनन और परिवहन धड़ल्ले से जारी, छत्तरपुर व आसपास के गांवों के लोगों ने सौंपे ज्ञापन

By: ajay khare

Published: 21 Oct 2020, 08:57 PM IST

अजय खरे.नरसिंहपुर. नर्मदा के शगुन व कुड़ी घाट में रेत के अवैध खनन व भंडारण का मामला अभी चल ही रहा है कि इस बीच गंगई समेत गाडरवारा में रेत के अवैध खनन के नए मामलों ने जिला प्रशासन के दावों और सजगता की कलई खोलकर रख दी है। बुधवार को अधिकृत रेत खनन कंपनी के चेकपोस्ट पर कटी एक रॉयल्टी पर्ची ने अवैध खनन की पोल खोल दी । कलेक्टर, एसपी को छत्तरपुर से लगे गांवों के दर्जनों ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों ने ज्ञापन सौंपे।
बुधवार को चीचली थानांतर्गत गंगई की प्रतिबंधित खदान से निकाली गई रेत का परिवहन ट्रैक्टर ट्रॉली से किया जा रहा था। ये ट्रैक्टर ट्रॉली गंगई से छिंदवाड़ा की ओर जा रही थी। इसकी गाडरवारा के पास ट्रॉली में भरी करीब 3 क्यूबिक मीटर रेत की रॉयल्टी पर्ची धनलक्ष्मी कंपनी के चेकपोस्ट पर काटी गई। कायदे से कंपनी के कर्मचारियों को इस ट्रैक्टर ट्रॉली की जानकारी तत्काल पुलिस को देनी थी। उन्हें ये बात अच्छे से पता थी कि गंगई में कोई रेत खदान स्वीकृत नहीं है। बावजूद इसके उन्होंने रॉयल्टी की राशि वसूलकर इसे जाने दिया। इसी तरह गाडरवारा में भी सुबह सुबह शक्कर नदी में स्वीकृत रेत खदान की बजाय कई जगह अवैध रेत खनन और परिवहन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं। इस बारे में गाडरवारा में पदस्थ खनिज निरीक्षक सुमित गुप्ता को जागरूक नागरिकों ने कई बार फोन किया लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। न ही अफसर ने मौके पर पहुंचना मुनासिब समझा। इसके बाद ये तस्वीरें जिला खनिज अधिकारी और कलेक्टर वेदप्रकाश को भी भेजी गईं। इसी तरह धरमपुरी की रेत खदान में भी अवैध खनन कर परिवहन की जा रही रेत को जागरूक लोगों ने सोशल मीडिया पर अपलोड किया। बुधवार को जगह जगह से आ रहीं अवैध खनन की तस्वीरों के बावजूद अधिकारी चुप्पी साधे रहे।
बंदूक के दम पर गुंडे बेच रहे रेत
बुधवार को जिला पंचायत सदस्य वंदना पटेल, जनपद पंचायत चावरपाठा के सदस्य अतुल लोधी, घनश्याम सिंह पटेल, छत्तरपुर गांव के सरपंच नवल सिंह पटेल, डोभी के नेतराम पटेल, रामेसवक पटेल समेत करीब दो दर्जन ग्रामीण एसपी कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने बताया कि पाड़ाझिर नदी समेत नर्मदा में व्यापक पैमाने पर अवैध खनन किया जा रहा है। कतिपय गुंडे बंदूक के दम पर रेत की कीमत वसूलने लोगों के घर जा रहे हैं। वंदना पटेल ने लिखित शिकायत देते हुए कहा कि उनके गांवों में किसी तरह की कोई रेत खदान स्वीकृत नहीं है। बावजूद इसके दबंग लोग हथियारों के बल पर अवैध रूप से उगाही करने में जुटे हैं। इसके चलते आसपास के गांवों में दहशत का माहौल बना हुआ है। इस संबंध में उन्होंने कलेक्टर को भी ज्ञापन दिया है। शिकायत में भामा निवासी शैलेंद्र लोधीए हितन लोधी, ईशू लोधी व नीरज लोधी पर आरोप लगाए गए हैं।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned