scriptTeesta Setalvad plotted for death sentence to Narendra Modi in 2002 riots: SIT | तत्कालीन CM नरेंद्र मोदी को फंसाना चाहती थीं तीस्ता, SIT की चार्जशीट में दावा | Patrika News

तत्कालीन CM नरेंद्र मोदी को फंसाना चाहती थीं तीस्ता, SIT की चार्जशीट में दावा

SIT ने अपनी चार्जशीट में दावा किया है कि तीस्ता सीतलवाड़ ने संजीव भट्ट और आरबी श्रीकुमार के साथ मिलकर तत्कालीन सीएम को फंसाने और उन्हें राजनीतिक रूप से खत्म करने की साजिश रच रही थीं।

Updated: September 22, 2022 07:54:02 am

सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ और अन्य दो के खिलाफ आज गुजरात के SIT ने अहमदाबाद की कोर्ट में अपनी चार्जशीट दाखिल की है। इसमें दावा किया गया है कि तीस्ता सीतलवाड़ ने 2002 के गोधरा दंगों के संबंध में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी, उनके कैबिनेट सहयोगियों और वरिष्ठ भाजपा नेताओं के खिलाफ झूठे मामले बनाने की साजिश रची थी। तीस्ता की साजिश में पूर्व आईपीएस आरबी श्रीकुमार और संजीव भट्ट भी थे जो सरकार का ही हिस्सा थे और समय-समय पर फर्जी डोकउमनेट्स तैयार करके उसकी आधिकारिक एंट्री करके तीस्ता को भेजा करते थे।
तीस्ता सीतलवाड़ व आर बी श्रीकुमार को गुजरात पुलिस ने पकड़ा
Gujarat riots: तीस्ता सेतलवाड़ को सुप्रीम कोर्ट से मिली अंतरिम जमानत,तीस्ता सीतलवाड़ व आर बी श्रीकुमार को गुजरात पुलिस ने पकड़ा,Gujarat riots: तीस्ता सेतलवाड़ को सुप्रीम कोर्ट से मिली अंतरिम जमानत

कांग्रेस नेताओं के साथ तीस्ता ने मिलकर किया काम: SIT


इस चार्जशीट में दावा किया गया है कि सीतलवाड़ ने दंगा पीड़ितों के बीच ये गलतफहमी फैलाने के लिए कांग्रेस नेताओं के साथ मिलकर काम किया था कि गुजरात उनके लिए सुरक्षित स्थान नहीं है।

अहमदाबाद सेशन कोर्ट में एसआईटी द्वारा दायर किये गए 100 पन्नों की चार्जशीट में कहा गया है कि फर्जी दस्तावेजों, फर्जी एफिडेविट तैयार की गई थी और इसके लिए कई वकीलों को काम पर लगाया गया था। पीड़ितों को मामला राज्य से बाहर ले जाने के लिए भी उकसाया गया और उनके नाम पर काल्पनिक कहानियाँ बनाई गईं। गवाहों पर दबाव बनाया गया कि वो इन कहानियों पर साइन करें। ऐसा करके तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी के राजनीतिक करियर को ही खत्म करने और उन्हें मौत की सजा हो इसकी साजिश रची गई।

IPC की धारा के तहत लगाए गए आरोप


इन तीनों के खिलाफ IPC की धारा 468 (धोखाधड़ी के उद्देश्य से जालसाजी), 194 (मौत की सजा दिलाने के इरादे से झूठे सबूत देना या गढ़ना), 211 (किसी व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू करना या उस पर झूठा आरोप लगाना) के तहत आरोप लगाया गया है। इसके अलावा 218 (लोक सेवक द्वारा गलत रिकॉर्ड तैयार करना या किसी व्यक्ति को सजा से बचाने के इरादे से लिखना) और भारतीय दंड संहिता की धारा 120 (B) (आपराधिक साजिश) के तहत आरोप लगाए गए हैं।

बता दें कि जून के अंतिम सप्ताह में तीस्ता सीतलवाड़ को गिरफ्तार किया गया था। तीस्ता को सुप्रीम कोर्ट के दो सितंबर के आदेश के बाद अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया था।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

सच बोलने की सजा भुगतनी पड़ी... बिहार के कृषि मंत्री के इस्तीफे पर BJP ने नीतीश पर किया हमलाअमित शाह के जम्मू दौरे से पहले पुलवामा में आतंकी हमला, पुलिस का एक जवान शहीद, CRPF जवान जख्मीIAF की ताकत में होगा इजाफा, कल सेना में शामिल होगा स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर, जानें इसकी खासियतIND vs SA 2nd T20: 2 गेंदबाज जो साउथ अफ्रीका को हराने में टीम इंडिया की मदद करेंगेबिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने दिया इस्तीफा, डिप्टी सीएम को सौंपा पत्रहिमाचल पहुंचे जेपी नड्डा, BJP जिला कार्यालय का लोकार्पण करने के बाद पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ की बैठकपंजाबः लॉरेंस बिश्नोई का करीबी गैंगस्टर टीनू हिरासत से चौथी बार फरार, मूसेवाला मर्डर केस में होनी थी पूछताछकांग्रेस के तीन बड़े प्रवक्ताओं ने दिया इस्तीफा, मल्लिकार्जुन खड़गे को अध्यक्ष बनाने के लिए करेंगे प्रचार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.