scripttomorrow i will go to ajmer sharif and convert into muslim no one should have problem says bihar minister ashok chaudhary | 'कल अजमेर शरीफ जाकर मैं अगर मुस्लिम बन गया', नीतीश कुमार के मंत्री ने क्यों कह दी ये बात? | Patrika News

'कल अजमेर शरीफ जाकर मैं अगर मुस्लिम बन गया', नीतीश कुमार के मंत्री ने क्यों कह दी ये बात?

locationनई दिल्लीPublished: Jan 05, 2024 07:44:50 pm

Submitted by:

Paritosh Shahi

मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि राजनीति और धर्म को किसी भी हाल में नहीं जोड़ना चाहिए। धर्म तो अपनाने की चीज है इसमें कोई प्रतिबंध नहीं है।

ashok_nitish.jpg

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर को लेकर इन दिनों खूब राजनीति बयानबाजी हो रही है। सत्ता पक्ष मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा को बड़े स्तर पर आयोजित कर आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पिच तैयार कर रही है तो विपक्षी पार्टियों के नेता हर रोज इस मामले पर कोई ऐसा बयान दे देते हैं जिससे भाजपा को हमला करने का मौका मिल जाता है। इस बीच, बिहार के नीतीश सरकार में भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने धर्म को लेकर कुछ ऐसा कह दिया है जिसके बाद सियासी बवाल मच सकता है।


क्या बोले अशोक चौधरी

मंत्री चौधरी ने जमुई में पत्रकारों के प्रश्न के उत्तर में कहा, 'नीतीश कुमार के खिलाफ एक राजनीतिक साजिश चल रही है कि नीतीश कब पीएम बनेंगे, कब वे संयोजक बनेंगे, जिसकी इच्छा ही नहीं है, परीक्षा ही नहीं दे रहे। फिर उसके रिजल्ट के बारे में हमसे क्यों पूछ रहे हैं।'

इसके बाद अशोक चौधरी ने कहा कि राजनीति और धर्म अलग-अलग चीजें हैं। धर्म अपनाना व्यक्तिगत निर्णय है। आज मैं हिंदू हूं, कल मैं लछुआर जाऊं और मुझे जैन धर्म अपनाने की प्रेरणा मिल सकती है और मैं जैन बन सकता हूं। कल अजमेर शरीफ जाकर ऐसा दिव्य ज्ञान मिल जाए कि हम मुस्लिम हो जाएं, नमाजी हो जाएं। इसमें किसी को परहेज नहीं होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: 60 नहीं 50 साल की उम्र से ही मिलेगी पेंशन, सरकार ने किया बड़ा ऐलान!

धर्म और राजनीति के अपने-अपने क्षेत्र

उन्होंने कहा कि धर्म और राजनीति के अपने-अपने क्षेत्र हैं। अंग्रेजों ने हिंदुस्तान को लूटा और हमें कमजोर बना दिया। जब हिंदुस्तान मुगलों के शासन में था तो यह कमजोर नहीं था क्योंकि मुगल यहां के ही थे। हमें देश में राजनीति करते समय गरीबों और वंचितों को सशक्त बनाने पर ध्यान देना चाहिए, धर्म को राजनीति से अलग रखना चाहिए। मंदिरों का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए। उन्होंने जदयू को पूरी तरह एकजुट और मजबूत बताया।

यह भी पढ़ें: 'चोट लगेगी तो डॉक्टर के पास जाएंगे या...', राम मंदिर पर बोले तेजस्वी यादव

यह भी पढ़ें: जनवरी महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, बच्चों की मौज, नोट करें कैलेंडर

ट्रेंडिंग वीडियो